जागरण संवाददाता, अंबाला : यमुनानगर के गांव कलावड़ से अंबाला शहर मामा के बेटे को राखी बांधकर वापस लौट रहे बाइक सवार के आगे आवारा पशु आ गया। पशु से टकराते ही बाइक सवार पुत्र सहित उसकी मां व बहन सड़क पर गिरकर लहूलुहान हो गए। एक राहगीर कार चालक ने घायलों को छावनी नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया, जहां से महिला को गंभीर हालत होने के कारण चंडीगढ़ पीजीआइ रेफर कर दिया।

यमुनानगर जिले के गांव कलावड़ निवासी शुभम अपनी मां प्रवेश देवी 50 वर्षीय और बहन मलिका 28 वर्षीय के साथ अंबाला शहर मामा के घर पर आया था। मां व बहन द्वारा मामा के घर पर राखी बांधने के बाद वह वापस घर कलावड़ जा रहे थे। इसी दौरान जगाधरी नेशनल हाईवे पर अचानक एक आवारा पशु आने के कारण वह तीनों बाइक सहित सड़क पर जा गिरे और लहूलुहान हो गए। अस्पताल में भाई-बहन को इलाज के बाद दाखिल कर लिया गया जबकि उनकी मां की हालत गंभीर होने के कारण उसे पीजीआइ रेफर कर दिया। लेकिन रेफर करने के लिए जब वह इमरजेंसी से बाहर निकले तो एक भी एंबुलेंस नहीं मिली। परिजनों ने एंबुलेंस कंट्रोल नंबर 108 पर फोन किया तो सामने से बात करने वाले एंबुलेंस भिजवाने की बात कहते ही फोन काट दिया। करीब आधे घंटे के बाद साहा से एंबुलेंस आई जिसके बाद महिला को रेफर किया जा सका।

Posted By: Jagran