संवाद सहयोगी, नारायणगढ़ : महिला थाना को बराड़ा डीएसपी के सुपुर्द करने के फैसले पर विधायक शैली चौधरी ने सरकार व पुलिस प्रशासन पर सवाल उठाया है। कहा कि प्रदेश सरकार ने महिला थाना बनाकर महिला उत्थान व महिला सशक्तीकरण की बातें कर वाहवाही लूटने का प्रयास किया था, लेकिन हालात वास्तविकता से कोसों दूर है। महिलाओं के उत्थान की जगह उन्हें परेशान किया जा रहा है। सरकार या पुलिस प्रशासन के एक तुगलकी फरमान से नारायणगढ़ के महिला थाना को अब डीएसपी बराड़ा को रिपोर्ट करनी होगी, जिससे पुलिसकर्मियों के साथ-साथ फरियादियों को भी बराड़ा दौड़ लगानी पड़ेगी।

-------------- भाजपा नेता बवेजा व किरायेदार में समझौते के बाद विवाद थमा

जागरण संवाददाता, अंबाला : कैंटोनमेंट बोर्ड अंबाला (सीबीए) के पूर्व उपाध्यक्ष अजय बवेजा और किरायेदार इंद्रजीत के बीच तोपखाना चौकी पहुंचा विवाद थम गया है। बवेजा ने तोपखाना पुलिस चौकी को फोन कर पुलिस को मौके पर बुलाया। दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया। इस संबंध में दोनों ओर से अपना पक्ष पुलिस के सामने रखा गया था।

हुआ यूं कि इंद्रजीत निवासी तोपखाना अजय बवेजा के मकान में किरायेदार है। वह अपने मकान की छत पर सीमेंट की चादरें लगवा रहा था। इसी दौरान अजय बवेजा मौके पर पहुंच गए और इसका विरोध किया। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में जमकर बहसबाजी हो गई। बात काफी बढ़ गई तो आसपास के लोग भी एकत्रित हो गए। इसी दौरान बवेजा ने तोपखाना पुलिस चौकी को फोन कर पुलिस को मौके पर बुला लिया। पुलिस ने मामला शांत कराया, जबकि इंदजीत व अजय बवेजा ने अपना पक्ष लिखित में पुलिस के सामने रख दिया। हालंकि इंद्रजीत ने मान लिया कि उसने अनुमति के बिना ही छत पर चादरें बिछाना शुरू किया था। इसी तरह बवेजा ने पूरा घटनाक्रम अपनी शिकायत में दिया। इस मामले में दोनों पक्षों में समझौता हो गया है।

Edited By: Jagran