जेएनएन, अंबाला। राणा कांप्लेक्स निवासी मुकेश कुमार (34) ने पत्नी को फोन किया और कहा कि कंपनी में कुछ कर्मचारी उसे टार्चर कर रहे हैं जिस कारण वह कुछ गलत करने जा रहा है। इसके बाद फोन कट गया। इसके बाद जो हुआ उससे परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई। युवक ने फंदा लगाकर खुदकशी कर ली।

परिजनों के अनुसार मुकेश कुमार महेश नगर स्थित इंडस्ट्रीयल एरिया में प्लॉट नंबर 113 में मैसर्ज शिव दयाल एंड संस में करीब पांच साल से नौकरी करता था। वह मंगलवार को ही अपनी पत्नी आशा व बेटे सन्नी को शाहाबाद में ससुराल छोड़कर आया था।

सुबह साढ़े आठ बजे उसके पिता गुलाब सिंहव माता ओमवती भी अपने-अपने काम पर चले गए। इसी बीच, मुकेश ने अपनी पत्नी आशा को फोन किया और कहा कि उसने अपने कमरे के दरवाजे की कुंडी लगा रखी है और कुछ गलत करने जा रहा है। उसकी पत्नी ने अपने ससुर को फोन किया और वह मौके पर पहुंचे।

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में लिखा था कि मैं मुकेश कुमार और मेरी मौत के जिम्मेदार राकेश उस्ताद, बिंदर, साहा वाला बब्लू रजनीश, फौजी, राजेश, राजू, संतोष हैं। यह सारे मिलकर कंपनी में मेरा मजाक उड़ाते हैं। मैं मरना नहीं चाहता था, परंतु यह सब मुझे बार-बार टार्चर करते थे।

उसने सुसाइड नोट में लिखा कि मैंने किसका क्या बिगाड़ा था और मैं जीना चाहता था। आशी मेरे बच्चे का ध्यान रखना। अगर मैंने किसी का दिल दुखाया तो मुझे माफ कर देना। पापा इनमें से किसी को भी माफ नहीं करना। इन सब को 10-10 साल की सजा होनी चाहिए और 5-5 लाख रुपये जुर्माना भी होना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः प्‍यार परवान न चढ़ा तो प्रेमी युगल ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

 

Posted By: Kamlesh Bhatt