जागरण संवाददाता, अंबाला शहर

शहर के पटेल रोड पर हरी मंदिर के पास एक विवाहिता का अंतिम संस्कार उस समय रोक दिया गया जब परिजनों ने मुंह देखते हुए गले पर निशान देखे। परिजनों ने तुरंत पुलिस को सूचना दे दी, इसके बाद पुलिस ने शव कब्जे में लेकर अस्पताल पहुंचाया, जहां पर पोस्टमार्टम किया गया। परिजनों का कहना है कि उन्हें बताया कि गया कि उनकी बेटी की बाथरूम में फिसल कर गिरने से मौत हुई है। जब सख्ती पर पूछा तो बताया कि बेटी ने फंदा लगा आत्महत्या की है। लेकिन उनका आरोप है कि उनकी बेटी की गला घोंट कर हत्या की गई है। हालांकि पुलिस ने मृतका के पिता ज्वाला के बयान पर मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है।

छावनी निवासी मृतका के भाई गौरव ने बताया कि उन्होंने अपनी बहन मोनिका उर्फ निक्की की शादी 13 अप्रैल 2017 में राजकुमार उर्फ राजू से की थी। शादी के बाद से ही ससुरालिये तंग करने लगे थे। बहन के पास एक माह पहले बेटी पैदा हुई थी, जो प्राइवेट अस्पताल में आप्रेशन में हुई थी। उसका पति राजकुमार टीवी रिपेयर के साथ फाइनेंस का काम करता है। नहीं बताती थी कोई परेशानी

मृतका की मां ललिता ने बताया कि उनकी बेटी को कोई परेशानी होती थी तो कुछ नहीं बताती थी। उसकी अभी करवा वाले दिन ही बात हुई थी। यहां तक उनकी बेटी को मोबाइल रखने की भी अनुमति नहीं थी। उसका पति पास बैठकर खुद के मोबाइल से ही बात करवाता था। लेकिन बेटी कभी संबंध खराब नहीं करना चाहती थी। मुंह न दिखाने पर हुआ शक

मृतका की मां ने बताया कि उसके पास शनिवार को किरायेदार की काल आयी कि उनकी बेटी की तबीयत खराब है। जैसे ही वह शहर पहुंची तो देखा कि बेटी की मौत हो चुकी थी। उसने परिजन को घटना के बारे में बताया। बेटी के ससुरालिये शनिवार ही संस्कार करने लग रहे थे। फिर उन्हें कहा कि अभी उनके रिश्तेदारों को पहुंच जाने दे, रविवार को अंतिम संस्कार कर देंगे। इस पर ससुरालिये मान गए। रविवार को अंतिम संस्कार की तैयारी की जा रही थी। जब रिश्तेदार पहुंचे तो वह मुंह देखने के लिये कहने लगे, लेकिन ससुरालिये मुंह नहीं देखने दे रहे थे। काफी मशक्कत के बाद मुंह देखा और गर्दन पर निशान दिखाई दिये। इसी से शक हुआ और पुलिस को सूचना दी। हालांकि ससुरालिये मंगलसूत्र के निशान बताते रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप