जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : एमईएस में नौकरी का झांसा देने वाली आरोपित कमलेश ने पूछताछ में गांव अंटाला निवासी भाग सिंह का नाम लिया है। उसने कहा कि उसका सारा काम वह ही देखता था और लोगों को उससे मिलवाता था। उसी के द्वारा वह पहचान पत्र व फर्जी मुहर लगाकर नियुक्ति पत्र जारी करते थे। महिला के बेटे राजेश चनालिया से भी थाना नग्गल पुलिस पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि थाना अंबाला कैंट पुलिस भी दोनों आरोपितों को पूछताछ के लिए प्रोडेक्शन वारंट पर लाएगी। आरोपित युवकों को सेना की तरह दिखने वाले आई कार्ड जारी करते थे ताकि कोई शक न हो। वहीं अब पुलिस मामले में संलिप्त अन्य आरोपितों की धरपकड़ करेगी। इस मामले में हुई गिरफ्तारी

ठगी के मामले में बृहस्पतिवार को बसपा नेता राजेश चनालिया व मां कमलेश गिरफ्तार कर लिया गया। शुक्रवार को दोनों आरोपितों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से पुलिस को पूछताछ के लिए दो दिन का रिमांड मिला है। पूछताछ के दौरान पुलिस मामले में संलिप्त अन्य का पता लगाएगी।

बता दें कि जग्गी कॉलोनी निवासी रामनिवास ने गत 9 दिसंबर को थाना नग्गल में शिकायत दर्ज कराई थी कि जग्गी कालोनी निवासी रामपाल, भाग सिंह व गांव टुंडला निवासी राजेश व महिला कमलेश ने गत वर्ष 9 फरवरी से 11 मार्च के दौरान उससे व अन्य लोगों से जाली भर्ती-पत्र के आधार पर नौकरी के मामले में उनसे एक बड़ी रकम हड़पने की धोखाधड़ी कर 29 अगस्त को नजदीक मटहेड़ी रोड पर जान से मारने की धमकी दी है। इस शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी थी। पूछताछ में आरोपित कमलेश ने अंटाला निवासी भाग सिंह का नाम लिया है। वह ही उसके सारे काम करता था और लोगों को उससे मिलवाता था। पुलिस मामले में जुड़े अन्य आरोपितों की धरपकड़ कर दी है। अभी मामले से जुड़े अन्य तथ्य सामने आ सकते हैं।

- धर्मवीर, एसएचओ, थाना नग्गल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस