जागरण संवाददाता, अंबाला : जिला प्रशासन ने जहां कोरोना से निपटने के लिए तमाम व्यवस्थाएं शुरू की हैं, वहीं इससे आगे अब नंबर भी जारी कर रहा है। यदि किसी को सांस लेने में दिक्कत आती है, तो वह सीधे इन नंबरों पर डायल करें, जहां उसको मदद दी जाएगी। इसके अलावा हर व्यक्ति तक खाना पहुंचाने का बंदोबस्त भी प्रशासन कर रहा है। डीसी अशोक कुमार ने लोगों का आह्वान किया कि वे घरों से बाहर न निकलें, किसी से हाथ न मिलाएं, सामाजिक दूरी बनाए रखें। खुद भी आंखों, कानों, नाक, गले व चेहरे को न छुएं, कम से कम 4 फुट की दूरी बनाकर रखें। उन्होंने कहा कि यदि सांस लेने की दिक्कत है नम्बर 108 अथवा 855, 889, 3911 पर भी कॉल कर सकते हैं। इस में प्रशासन की ओर से हर संभव मदद की जाएगी। लॉकडाउन में कोई व्यक्ति भूखा न रहे, पहुंचेगा राशन : आयुक्त

अंबाला : दूसरी ओर प्रशासन ने तैयारी की है कि लॉकडाउन में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। मंडल आयुक्त दीप्ति उमांशकर ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कोई भी व्यक्ति भूख से प्रभावित नहीं होना चाहिए। ऐसे लोग जो किसी स्कीम के तहत नहीं आते उन तक ड्राई खाद्य सामग्री या फिर पका हुआ भोजन उपलब्ध करवाया जाना लाजमी है। समय-समय पर संबंधित अधिकारी किए गये कार्यों की समीक्षा भी करते रहें। मंडल आयुक्त दीप्ति उमाशंकर चण्डीगढ़ से मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा द्वारा आयोजित वीसी में मिले निर्देशों की अनुपालना में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रही थी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के चक्र को तोड़ने के लिए सरकार के पास पैसे की कोई कमी नहीं है। प्रशासन के पास पर्याप्त धनराशि उपलब्ध है, सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र के सम्बन्धित लोगों की सूचि बनाकर चंडीगढ़ मुख्यालय द्वारा निर्धारित साईट पर अपलोड करवाने का काम करें। ऐसे बुजुर्ग जो अकेले रहते हैं उनका विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। चिकित्सक स्टाफ जो डयूटी पर लगे हुए हैं उनके परिवार को यदि किसी प्रकार की राशन, सब्जी इत्यादि की जरूरत है तो उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था भी होनी चाहिए। इस कार्य के लिए पैरावालंटियर की व्यवस्था तुरंत की जाए। पशुओं के लिए चारा इत्यादि की व्यवस्था सुचारू रूप से हो, जो व्यक्ति पशुओं के लिए चारा लेकर जा रहे हैं ऐसे व्यक्तियों के न रोका जाए। जिला प्रशासन द्वारा जो दुकानदारों की सूची उपलब्ध करवाई गई है उन क्षेत्रों में भी संबंधित अधिकारी समय-समय पर विजिट करते रहें। फोन पर होम डिलीवरी की व्यवस्था सुचारू रूप से हो, ऐसी व्यवस्था करना बेहद जरूरी है।

उधर, डीसी अशोक कुमार ने कहा कि निर्माणाधीन स्थानों के साथ-साथ जिला में अन्य किसी भी स्थान पर रह रहे ऐसे लोगों को चिन्हित किया जाएं जो किसी स्कीम के तहत लाभ नहीं ले रहे हैं ताकि उन्हें खाना या फिर खाद्य सामग्री तुरंत प्रभाव से उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने एडीसी जगदीश ढांडा को निर्देश दिये कि वे ग्राम सचिवों, पंचों-सरपंचों, पटवारियों, नगर निगम के कर्मचारियों की सहायता से ऐसे लोगों को चिन्हित करके उनकी सूची एकत्रित करें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस