जागरण संवाददाता, अंबाला: डिफेंस कॉलोनी से कलरहेड़ी रोड तक चल रहा मुख्य सड़क का निर्माण कार्य धीमी गति से चलते के कारण स्थानीय लोगों के लिए आफत बनता जा रहा है। ठेकेदार न तो सड़क पर बिखरी मिट्टी पर पानी का छिड़काव कर रहा है और न ही काम में तेजी में ला रहा है। स्थिति यह है कि मिट्टी पर छिड़काव न होने के कारण मुख्य रोड से वाहन गुजरते ही धूल व मिट्टी का गुबार सा बन जाता है। जिस कारण सड़क पर साफ दिखाई तक नहीं देता। रोजाना इस सड़क से सैकड़ों वाहन गुजरने के कारण हादसे का खतरा रहता है। यहीं कारण है कि विगत दिवस सड़क किनारे चल रही महिलाओं को टक्कर मारने का कारण भी कहीं न कहीं मिट्टी की गुबार रहा। जिसने ड्राइवर की देखने वाली क्षमता को कम कर दिया। यह पहला हादसा नहीं बल्कि कई बार एक्टिवा सवार महिलाएं व बुजुर्ग वाहन लेकर सड़क पर अनियंत्रित होकर गिर जाते हैं। ठेकेदार को गंभीरता से काम लेना चाहिए।

--------------

कम से कम पानी का छिड़काव हो

रोजाना मुख्य रोड से सैकड़ों वाहन चालक गुजरते हैं। मिट्टी के गुबार के कारण स्थानीय लोगों का दोपहिया व पैदल निकलना तक मुश्किल हो चुका है। ठेकेदार के कर्मचारी रोजाना काम करने से पहले छिड़काव करें तो इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

ईश्वर सिंह नरवाल, रिटायर्ड कैप्टन

-----

दिनरात होना चाहिए काम

सड़क निर्माण के दौरान ठेकेदार को दिन की अपेक्षा रात के समय ज्यादा काम करना चाहिए। रात के समय वाहनों की आवाजाही कम होने के कारण काम जल्द से जल्द होता है। दिनरात काम हो तो कम समय के अंदर ही काम खत्म हो जाएगा।

रणबीर, रिटायर्ड मेजर

---------

गड्ढों और सड़क पर बजरी से बुरा हाल

सड़क पर भले ही काम चल रहा हो। मगर जगह-जगह पसरी गंदगी व धीमी गति से काम चलने के कारण गड्ढे हादसों का मुख्य कारण बन रहे हैं। बिखरी बजरी पर कोई भी दोपहिया वाहन चालक ब्रेक मारता है तो हादसे का शिकार हो जाता है। निर्माण कार्य पूरा करने तक इसकी भी कोई वैकल्पिक व्यवस्था करनी चाहिए।

रणबीर राणा

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप