अंबाला शहर [राजीव ऋषि]। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत को अब जेल के खान-पान की आदत पड़ने लगी है। देशद्रोह के मामले में शहर की सेंट्रल जेल में बंद हनीप्रीत ने पहले दिन तो खाने-पीने में  थोड़ी ना-नुकुर की थी, लेकिन अब जेल में मिलने वाला खाना खाने लगी है।

हनीप्रीत को महिला बंदी वार्ड में सबसे पीछे बनी चक्की रखा गया है। उसके साथ दिन-रात महिला नंबरदार लगाई गई है, जिसे शिफ्टों के हिसाब से बदला जाता जाता है। हनीप्रीत के आने के बाद से जेल की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है क्योंकि 427 डेरा अनुयायी भी न्यायिक हिरासत में हैं। जेल प्रशासन को भय है कि यदि हनीप्रीत व डेरा अनुयायी आमने-सामने हुए, उनमें बात हुई तो परेशानी पैदा हो सकती है, इसी कारण दोनों में दूरी बनाकर रखी जा रही है। दोनों से मुलाकात के लिए आने वालों पर भी निगाह रखी जा रही है।

ध्यान रहे कि साध्वी यौन शोषण मामले में 25 अगस्त को पंचकूला सीबीआइ कोर्ट से दोषी करार दिए गए डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद रोहतक की सुनारिया जेल भेज दिया गया था। कोर्ट से लेकर जेल तक हनीप्रीत उसके साथ रही, लेकिन बाद में संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गई थी। 38 दिन बाद वह बठिंडा की डेरा अनुयायी सुखदीप कौर के साथ गिरफ्तार की गई थी।

जेल सूत्रों के मुताबिक उसे महिला बंदी वार्ड की जिस चक्की में रखा गया है, वहां अन्य महिला बंदियों को आने-जाने नहीं दिया जा रहा। ऐसा भी नहीं है कि हनीप्रीत को बैरक में टहलने की रोकटोक है। वह चाहे तो किसी भी महिला बंदी से बात कर सकती है, लेकिन उसके साथ चौबीस घंटे महिला नंबरदार रहती है। वही उसके खाने-पीने का इंतजाम करती है, रात को भी उसके साथ बैरक में सोती है। एक महिला बंदी ने बताया कि शुरू में वह थोड़ा रोई थी, गुरमीत से मिलाने की जिद कर रही थी, लेकिन अब शांत है।

यह भी पढ़ेंः विपासना नहीं पहुंची पूछताछ में शामिल होने, पुलिस को भेजा मेडिकल

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप