जागरण संवाददाता, अंबाला

छावनी के मायावाला चौक के पास दो पक्षों के बीच हुई मारपीट के मामले में मंगलवार की देर रात नया मोड़ आ गया है। सदर थाने के बाहर खड़े एक युवक को एसएचओ विजय कुमार ने बिना कुछ पूछे उसे कई थप्पड़ जड़ दिए। देखते ही देखते मामला तूल पकड़ गया। गुस्से में भाजपा से जुड़े एक पक्ष के लोग गुस्से में कमरे से बाहर आए और थाने के बाहर जमकर हंगामा किया। देर रात साढ़े 12 बजे गुस्साए भाजपा कार्यकर्ता स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की कोठी पहुंचे तो सुबह कार्रवाई का आश्वासन मिला। बुधवार सुबह बंटी पहलवान अन्य कार्यकर्ताओं के साथ कोठी पहुंचे और बंद कमरे में विज के साथ मुलाकात की। इस दौरान विज को पूरा मामला बताया गया और एसएचओ ने अपनी गलती मानते हुए माफी मांगी। विज के आदेशों पर दोपहर दो बजे रेस्ट हाउस में डीएसपी सुरेश कौशिक की भाजपाइयों के साथ मी¨टग हुई, जिसमें सभी ने एक सुर में एसएचओ को बदलने की मांग की। ऐसे में अब सदर थाना प्रभारी विजय कुमार पर कार्रवाई होना तय है।

-------------------------

दो पक्षों के बीच हुई थी मारपीट

पंसारी बाजार एसोसिएशन के प्रधान विकास ¨सगला ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि उनके मोबाइल नंबर पर 2-3 बार अज्ञात नंबर से मिस कॉल आई। ¨सगला ने फोन किया तो सामने से युवक गाली-गलौच करने लग गया। युवक ने फोन पर कहा कि हिम्मत है तो मायावाला चौक पर आ जाओ। इसके बाद ¨सगला एक अन्य युवक के साथ मायावाला चौक पर पहुंचे जहां पहले से तैयार युवकों ने ¨सगला पर हमला कर दिया। साथ ही खटीक मंडी के चार युवकों ने ¨सगला पर अलग-अलग बंदूकें तान दी। वहीं दूसरे पक्ष की ओर से मोहित निवासी खटीक मंडी ने विकास ¨सगला पर आरोप लगाते हुए शिकायत दी कि शाम को विकास कुछ युवकों के साथ उसके घर पर आया था। उसने हथियार के बल पर उसे बाहर निकाला और मायावाला चौक के पास ले जाकर उससे मारपीट की है। हालांकि बुधवार को इन दोनों पक्षों के बीच पंचायती समझौता हो गया।

-----------------------

एसएचओ के थप्पड़ मारने पर हुआ हंगामा

दोनों पक्ष देर रात थाना प्रभारी विजय कुमार के कमरे में ही बातचीत कर रहे थे। इसी बीच एसएचओ बाहर आया और थाने के बाहर खड़े एक युवक की गाल पर बिना कुछ पूछे कई थप्पड़ रसीद कर दिए। इसके बाद युवक के साथ वाले अन्य भाजपा कार्यकर्ता व युवकों ने थाने के बाहर हंगामा कर दिया। पुलिस ने युवकों को काफी समझाया लेकिन वह गुस्से में विज की कोठी जा पहुंचे।

-----------------------

बंद कमरे में थाना प्रभारी ने मांगी माफी

बुधवार सुबह खटीक मंडी निवासी कुछ अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं के अनिल विज की कोठी पहुंचा। सदर थाना प्रभारी को भी कोठी बुलाया गया। विज को पहले भाजपाइयों ने अपना पक्ष बताया। इसके बाद थाना प्रभारी ने भी अपना पक्ष रखा। हालांकि एसएसओ ने अपनी गलती मानते हुए माफी मांग ली।

----------------------

डीएसपी के सामने भाजपाई बोले, एसएचओ बदलो

विज के आदेशानुसार करीब दो बजे सभी भाजपाई रेस्ट हाउस में पहुंचे और डीएसपी सुरेश कौशिक के साथ मी¨टग की। मी¨टग में भाजपाइयों ने एक-दो नहीं बल्कि एसएचओ के खिलाफ कई शिकायतें डीएसपी के सामने रखी। यहां तक की वहां मौजूद एक पुलिस कर्मी ने तो यहां तक बोला कि इस तरह दो महीने में 6-7वां मामला है। लेकिन अंत में सभी भाजपाइयों ने एक सुर में केवल यही कहा कि एसएसओ विजय कुमार को यहां से बदला जाए, तभी उन्हें संतुष्टि मिलेगी। ऐसे में अब थाना प्रभारी विजय कुमार के खिलाफ क्या कार्रवाई होगी, यह स्वास्थ्य मंत्री पर निर्भर करता है।

--------------------

प्रशासनिक मामला है :

मारपीट वाले मामले में दोनों पक्षों के बीच आपसी समझौता हो गया है। मैंने रेस्ट हाउस में मी¨टग की थी जिसमें एसएचओ के खिलाफ शिकायत दी गई है। हालांकि यह प्रशासनिक मामला है, इस बारे मैं कुछ नहीं बोल सकता हूं।

सुरेश कौशिक, डीएसपी, अंबाला छावनी

Posted By: Jagran