-शिकायतकर्ता बोला: डीसी मैडम, एशियन खेलों के प्रसारण के समय कट कर दिया स्टार स्पो‌र्ट्स

-डीसी बोली आपकी शिकायत पर होगी कार्रवाई, शिकायतकर्ता बोला नहीं हुई तो मैं 15 दिन बाद आऊंगा आपके कार्यालय

जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : डीसी मैडम में पिछले ढाई साल से केबल आपरेटरों की मनमर्जी से तंग हूं और जनहित में लड़ाई लड़ रहा है। मनमर्जी से यह रेट बढ़ा देते हैं इनपर कोई कार्रवाई करने वाला नहीं है। केबल आपरेटर कनेक्शन काटने पर भी वापस नहीं लेते। जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में हाउ¨सग बोर्ड निवासी एमआर सैनी ने यह शिकायत की थी। सैनी ने बताया कि केबल आपरेटर सिक्योरिटी राशि तक मनमर्जी से बढ़ा रहे हैं और कनेक्शन कटवाने के बाद राशि नहीं लौटाते। उसने कई जगह शिकायत देकर अपनी दो कनेक्शन की 2400 रुपये की राशि वापस ली। जब खेल आते हैं तो यह स्टार स्पो‌र्ट्स या अन्य चैनल काट देते हैं। जैसे एशियन खेलों के समय किया है। फिर उसके लिए भी अलग से पैसे मांगते हैं। इतना ही नहीं इन्होंने पूरे शहर में बिजली के पोल पर अपनी केबल डाली है। इसीलिए बिजली बाधित रहती है। इसमें बिजली निगम के कर्मी भी इनका साथ देते हैं।

----------------------

खाद्य आपूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर पर कार्रवाई न करने को लेकर हंगामा.. गांव भुडंगपुर के अवतार ¨सह व अन्य गांव वासियों की शिकायत थी कि खाद्य एवं पूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर नरेन्द्र कुमार की मिलीभगत के कारण नए राशन डिपो धारक को अनाज की आपूर्ति नहीं हो रही है। पीआर सेंटर पर तैनात पवन कुमार गांव की महिलाओं से बदतमीजी से पेश आता है। यह व्यक्ति न तो कर्मचारी है न कोई अधिकारी लेकिन वहीं बैठा रहता है। ग्रामीणों ने पिछले तीन महीने का राशन नहीं मिलने की शिकायत दी। डीएफएससी निशांत राठी ने बताया कि जांच में आरोप सही पाए गए। इसीलिए उन्होंने नरेंद्र के खिलाफ कार्रवाई के लिए विभाग में 25 अगस्त को लेटर लिख दिया। जिला कष्ट निवारण समिति के सदस्य रामरतन गर्ग ने कहा कि डीएफएससी साहब मैं वह लेटर देखने आउंगा आप कुछ नहीं करते। डीएफएससी ने मौके पर ही लेटर भी दिखाकर उनके गुस्से का शांत किया। डीसी ने कहा कि इंस्पेक्टर के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई के लिए बैठक के हवाले देकर भी पत्र भेजा जाए। साथ ही पीआर सेंटर पर तैनात पवन कुमार के व्यवहार की जांच करके उसके विरूद्ध भी कार्रवाई के निर्देश दिए।

----------------------

मजदूरी कर रहे दिव्यांग को थमाया 7 लाख का बिजली बिल

परशुराम कालोनी निवासी सतीश कुमार ने बताया कि वह दिव्यांग है। 5वें महीने में उन्होंने शिकायत की थी उनकी री¨डग गलत ली जा रही है लेकिन सुख¨वद्र ¨सह ने एक नहीं सुनी और छठे महीने में 7 लाख रुपये का बिल उन्हें थमा दिया। इसके बाद से वह बिल ठीक कराने के लिए भटक रहे हैं। सुख¨वद्र ¨सह का कहना है कि वह जो चाहे करें बिल ठीक नहीं होगा। इस पर एक्सईएन बीएस कंबोज ने बताया कि बिल ठीक कर दिया गया है। साथ ही सुख¨वद्र ¨सह के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह रोहताश निवासी गांव थंबड ने बताया कि उसने तत्काल ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए आवेदन किया था। 28 मार्च को उसे पास कर दिया गया। वह एक लाख कैश जमा कराने गए जोकि लिए नहीं गए क्योंकि आनलाइन जमा होनी थे। लेकिन किसी ने न तो पैसे जमा कराने की तारीख बताई न ही किस अकाउंट में जमा कराने हैं। चार अप्रैल को सरकार ने स्कीम बंद कर दी। इस मामले में डीसी ने स्पेशल केस बनाकर एक्सईएन बिजली निगम को निदेशालय में भेजने के आदेश दिए।

----------------

पुलिस और विभाग की मिलीभगत से बिकता है नशा

गांव महमूदपुर के करनैल ¨सह द्वारा गांव में अवैध शराब की बिक्री की शिकायत रखी थी लेकिन बैठक में नहीं आए। इस पर आबकारी एवं कराधान विभाग के अधिकारी ने बताया कि जांच में ऐसा कुछ नहीं पाया गया। सरपंच ने भी ऐसी बात नहीं बताई व शिकायतकर्ता का मोबाइल नंबर भी नहीं है। इसीलिए इसे रद्द कर दिया गया। इस पर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डॉ. संजय शर्मा ने कहा कि डीसी मैडम पुलिस और विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से खुर्दो में शराब बिकती है। छोटे-छोटे बच्चों को शराब दी जा रही है। समिति के गैर सरकारी सदस्य रवि सहगल ने भी छावनी में अवैध शराब की बिक्री का मुद्दा उठाया। डीसी ने एसपी व आबकारी विभाग को रेड कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

-------------

निहारसी में लगाई दो बसें, पेंशन भी लगी

निहारसी गांव के पूर्ण लाल व मनजीत ¨सह ने गांव में बस सुविधा न होने की शिकायत रखी थी। जीएम रोडवेज मीनाक्षी दहिया ने बताया कि इस रूट पर दो बसें चला दी गई हैं। हाउ¨सग बोर्ड शहर के लविश और मनमोहन नगर शहर की कुसुम देवी की समाज कल्याण विभाग से संबंधित पेंशन की शिकायत थी। अधिकारी ने बताया कि दोनों प्रार्थियों की पेंशन लगवा दी गई हैं।

-------------

डीसी ने दिए कार्रवाई के निर्देश.. एसडीएम से बोली आप नोडल अधिकारी

डीसी ने इस मामले को गंभीरता से लेते इस पर कार्रवाई के निर्देश एसडीएम को दिए। एसडीएम से कहा कि आप केबल आपरेटरों के नोडल अधिकारी हैं। इसीलिए एसपी के साथ मिलकर आप केबल आपरेटरों पर कार्रवाई करें। बिजली निगम एक्सईएन बीके कंबोज को निर्देश दिए कि लगातार केबल को बिजली खंभों से हटाने का अभियान चलाए रखें और फिर भी नहीं हटाते तो कार्रवाई के लिए लिखें। साथ ही शिकायतकर्ता की शिकायत को एजेंडे से हटाने के निर्देश दिए इस पर सैनी बोले मैडम यदि मेरी शिकायत की सुनवाई नहीं हुई तो मैं 15 दिन बाद आपके कार्यालय में ही आ जाउंगा। क्योंकि यह पूरे शहर से जुड़ा मामला है।

-----------

बिजली निगम के जेई बिना पैसे लिए नहीं करते काम, एक्सइएन बोले दो लिखित शिकायत

भाजयुमो जिलाध्यक्ष संजय लाकड़ा ने बिजली निगम पर आरोप लगाते हुए कहा कि एक भी जेई बिना पैसे लिए काम नहीं करता। मुझसे भी 2500 रुपये पोल लगाने के लिए मांग लिए थे। इन्होंने भ्रष्टाचार फैला रखा है। डीसी ने एक्सईएन को कार्रवाई के निर्देश दिए इस पर एक्सइएन बोले की संजय जी आप लिखित शिकायत दें मैं कार्रवाई करूंगा। मोती नगर निवासी नरेंद्र ¨सह की शिकायत थी कि तीन फेस का बिजली कनेक्शन है लेकिन दो फेस में ही सप्लाई होती है। इस पर एक्सइएन ने कहा कि मैडम मेरे पास शिकायत आई थी मैंने उसे ठीक करवा दिया है। इस पर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता बोले की एक्सइएन साहब मामला आप तक पहुंचता ही क्यों है? आपके एसडीओ क्या कर रहे हैं? इसका उनके पास कोई जवाब नहीं था।

Posted By: Jagran