-स्कूल ¨प्रसिपल व सहयोगी ने कार्यालय में आकर दी घमकी, बलदेवनगर में एफआइआर

जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : पेड़ कटवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन की राय देना उपवन संरक्षक अधिकारी हैरतजीत कौर को महंगा पड़ गया। जलबेहड़ा रोड पर गांव सौंडा में स्थित महाराजा अग्रसेन सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य केएन सूरी व उनके सहयोगी अमरजीत तलवार ने माडल टाउन कार्यालय में आकर पहले तो अधिकारी पर फाइल फेंक दी। बाद में धमकी दी कि ऑनलाइन अप्लाई नहीं करेंगे। यह घटना बुधवार सुबह की है। अधिकारी की शिकायत पर बलदेवनगर थाने में ¨प्रसिपल व सहयोगी के खिलाफ सरकारी काम में बाधा, मारपीट व धमकी की धाराओं में केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी गई।

जानकारी के मुताबिक माडल टाउन वन विभाग कार्यालय में स्कूल की तरफ से 3 अगस्त को गेट के बाहर लगे पेड़ों को कटवाने के लिए पत्र आवेदन दिया गया था। हैरतजीत कौर ने इस पत्र के माध्यम से 6 अगस्त को वन राजिक अधिकारी को मौके का मुआयना व फोटो सहित रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए थे। 29 अगस्त की सुबह केएल सूरी एक व्यक्ति के साथ कार्यालय में आए। उपरोक्त व्यक्ति ने अपना विजिटिंग कार्ड टेबल पर रखकर गुस्से से पूछा अभी तक उनका काम क्यों नहीं किया गया। महिला अधिकारी ने बताया कि रिपोर्ट के मुताबिक आपका एफएलए, 1980 का केस बनता है। इसके लिए आपको आन लाइन आवेदन करना होगा। तभी काम होगा। इतना सुनते ही अमरजीत तलवार ने फाइल अधिकारी पर फेंक मारी, जिससे उन्हें चोट लगी। धमकी दिए कि बिना आनलाइन आवेदन के काम करना होगा नहीं तो परिणाम अच्छा नहीं होगा। उसके बाद ¨प्रसिपल ने भी अपने लहजे में धमकाया। बलदेवनगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रजनीश यादव के अनुसार केस की तफ्तीश जारी है। वास्तविकता के आधार पर कानूनी प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

Posted By: Jagran