जागरण संवाददाता, अंबाला : वार मेमोरियल म्यूजियम सेंटर की 22 एकड़ जमीन पर नगर निगम प्रशासन और पीडब्ल्यूडी बीएंडआर ने करीब 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद कब्जा ले लिया। छावनी की नई आबादी रंगिया मंडी के लोगों ने यहां पर बाग-बगीचों में फूल और सब्जियां लगा रखी थीं जिसे उक्त दोनों विभागों ने जेसीबी चला कर कब्जा ले लिया है। कार्रवाई से पहले विरोध में काफी लोग एकजुट भी हुए और कुछ समय की मोहल्लत भी मांगी। लेकिन विभाग ने लोगों से कहा कि वह मुआवजे के लिए निगम प्रशासन अधिकारियों से गुहार लगाएं। इसीलिए विभाग ने पुलिस बल के साथ अपनी कार्रवाई शुरू कर दी।

करीब डेढ़ बजे एक्सईएन डीडी कंबोज और ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के साथ कार्रवाई करने वाली टीम मौके पर पहुंचे। सुरक्षा के लिए पड़ाव थाना प्रभारी के साथ-साथ पुलिस की रैपिड फोर्स मंगवाई गई। टीम प्रस्तावित रेलवे लाइन के रास्ते से होते ही उस प्वाइंट पर पहुंची जहां पर कुछ दिनों पहले निगम की टीम ने सर्वे कर 22 एकड़ जमीन के अंतिम छोर पर निशान लगाए थे। पहले तो नई आबादी के लोग आगे खड़े हो गए और समय मांगने लगे। लेकिन पुलिस और ड्यूटी मैजिस्ट्रेट ने उन्हें समय देने से मना कर दिया। इसके साथ ही मौके पर मौजूद तीन जेसीबी मशीन के साथ कार्रवाई को अंजाम देना शुरू कर दिया गया। जेसीबी के साथ वह जगह साफ की गई। जहां पर म्यूजियम बनाने वाली एजेंसी को दीवार करने के बाद निर्माण कार्य करना है। हालांकि मौके पर मौजूद लोगों ने सरकार से मांग भी की है कि उन्हें उजाड़ने के साथ-साथ बसाने का काम भी किया जाए। सरकार पहले रेलवे कोरिडोर और अब म्यूजिक के लिए उनसे जमीन छीन ली गई है।

------------

शहीदी स्मारक बनाएगा पीडब्ल्यूडी बीएंडआर

एक्सईएन डीडी कंबोज ने बताया कि 189 करोड़ की लागत से अंबाला-दिल्ली हाइवे के किनारे वार मेमोरियम शहीदी स्मारक बनाया जाएगा। इसको बनाने का काम एएस एंटरप्राइजेज को दिया गया और दो साल के अंदर यह काम करके देना है। यह म्यूजियम 22 एकड़ में बनेगा। इसीलिए एजेंसी को यह जमीन साफ करके देनी थी। निगम और पीडब्ल्यूडी की संयुक्त कार्रवाई से यह जमीन क्लीयर करके एजेंसी को सौंप दी गई है अब एजेंसी की ओर से इसकी चारदीवारी करने का काम किया जाएगा। फिलहाल मौके पर पिल्लर लगाए गए हैं।

----------

साइंस सिटी का हो चुका है काम पूरा

इस 22 एकड़ की जमीन के बीच में पीडब्ल्यूडी बीएंडआर साइंस सिटी म्यूजियम के लिए बाउंड्री वॉल और जमीन को मिट्टी गिराकर लेवल कर चुका है। यह म्यूजिक पांच एकड़ जमीन में बनेगा। अब इसका निर्माण कार्य साइंस सिटी म्यूजियम कोलकाता की ओर से किया जाएगा और केंद्र सरकार की देखरेख में यह प्रोजेक्ट पूरा किया जाएगा।

Posted By: Jagran