जागरण संवाददाता, अंबाला : छावनी में सब एरिया कमांडर एवं बिग्रेडियर के हस्तक्षेप से डिफेंस लैंड पर गंदगी गिराने से कैंटोनमेंट बोर्ड को रोकने के मामले का पटापेक्ष हो गया। इसीलिए बोर्ड ने बृहस्पतिवार को दोबारा से पंजोखरा साहिब रोड के किनारे बनाए गए ड¨म्पग ग्राउंड में गंदगी गिरानी शुरू कर दी गई है जिससे सेना और सिविलियंस परिवार ने राहत ली है। सेना क्वार्टर के अंदर रखे गए कूड़ेदान से बुधवार को दिन भर कूड़ा नहीं उठ पाया था।

बोर्ड क्षेत्र में गंदगी फैलने पर बोर्ड अधिकारी भी परेशान हो गए थे। इसीलिए बोर्ड सीईओ ने सब एरिया कमांडर एवं बोर्ड अध्यक्ष बिग्रेडियर से बातचीत की। बोर्ड अध्यक्ष ने सेना और सिविलियंस की परेशानी को जनहित में देखते हुए ड¨म्पग ग्राउंड में ही गंदगी गिराने की अनुमति प्रदान कर दी है। अनुमति मिलने से बोर्ड के अधिकारियों ने राहत की सांस ली है और बृहस्पतिवार को सुबह से गंदगी उठाने का काम शुरू हो गया। बोर्ड की गाड़ियां दिनभर दो दिन से रुका हुआ कूड़ा उठाने में जुटी रही हैं। इससे बोर्ड क्षेत्र में रहने वाली जनता ने राहत की सांस ली है। बता दें कि सेना ने डिफेंस लैंड पर बनाए गए ड¨म्पग ग्राउंड पर कूड़ा गिराने पर रोक लगाई थी और कोर्ट के फैसले का तर्क दिया गया था। इसीलिए सेना की एक इंजीनिय¨रग रेजिमेंट ने गड्ढे और मिट्टी डाल कर रास्ता बंद कर दिया गया जिसे अब खोल दिया गया है। बोर्ड की सफाई ब्रांच के सहायक संजय बंसल ने बताया कि मामला सुलझ गया है और सुबह से दोपहर तक सभी सारी गंदगी उठा दी गई है।

रेलवे कॉलोनी की समस्या बरकरार

कैंटोनमेंट बोर्ड छावनी के क्षेत्र रेलवे कॉलोनी, हिम्मतपुरा, दुधला मंडी, आनंद मार्केट और गुलाब मंडी में गंदगी की समस्या बरकरार है। ये क्षेत्र काली पलटन पुल की वजह से गंदगी से बेहाल है और मामला सब एरिया कमांडर एवं बोर्ड अध्यक्ष के सामने उठाया जा चुका है। लेकिन कोई समाधान आज तक नहीं हो पाया है। वार्ड पार्षद सन्नी का कहना है कि काली पलटन पुल का निर्माण कार्य जब तक नहीं हो जाता तब तक रेलवे कॉलोनी समेत अन्य एरिया में गंदगी की समस्या बनी रहेगी। यह समस्या बोर्ड अधिकारियों के सामने रखी जा चुकी है जिस पर विचार किया जा रहा है।

Posted By: Jagran