कुलदीप चहल, अंबाला

कोविड 19 के चलते स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसजीएफआइ) के दो पत्रों ने भ्रम की स्थिति पैदा कर दी है। इसे लेकर अब शिक्षा विभाग के यूथ स्पो‌र्ट्स आफिस ने भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) को पत्र भेजा है। इसमें एसजीएफआइ के दोनों गुटों की ओर से जारी किए गए लेटर का हवाला दिया गया है। लिखे गए पत्र में पूछा गया है कि दोनों की स्थिति क्या है। अब साई के जवाब का इंतजार है ताकि पता चल सके कि इन गेम्स को लेकर क्या स्थिति है।

एसजीएफआइ के एक गुट ने स्कूल नेशनल गेम्स को लेकर लेटर जारी किया था। इसमें गेम्स को लेकर शेड्यूल जारी किया गया था। कहा गया था कि नवंबर से नेशनल गेम्स होने हैं। इस गुट के पदाधिकारियों का दावा था कि इसके लिए कुछ स्टेट ने प्रविष्टियां भेजी हैं। इसके अगले ही दिन दूसरे गुट ने लेटर जारी कर इस शेड्यूल का खंडन करते हुए इसे फर्जी बताया था। इसी को लेकर स्कूल संचालक भी असमंजस में रहे कि स्कूल गेम्स होंगे या नहीं।

दूसरी ओर शिक्षा विभाग भी इसी को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं कर पा रहा था। यदि गेम्स का आयोजन होना है तो इतने कम समय में यह मुश्किल है। स्कूलों में ब्लाक, डिस्ट्रिक्ट और स्टेट लेवल पर कंपीटिशन होते हैं, जिसके बाद नेशनल लेवल पर कंपीटिशन होते हैं। दो कोविड के चलते जहां साल 2020 में यह नहीं हुए, वहीं 2021 में भी यह नहीं हो पाए हैं।

---------- स्कूल गेम्स को लेकर अभी स्थिति क्लीयर नहीं है। दोनों लेटरों को आधार बनाकर साइ से इस बारे में गाइडलाइंस मांगी है। अभी जवाब का इंतजार है, जिसके आगामी तैयारी की जाएगी।

- एन सत्यन, वाईएसओ शिक्षा विभाग

Edited By: Jagran