पानीपत/अंबाला, जेएनएन। बब्याल श्मशान घाट में बुजुर्ग की अस्थियों से छेड़छाड़ व तांत्रिक क्रिया का मामला सामने आया है। संस्कार के अगले दिन परिजन फूल चुगने के लिए पहुंचे तो वहां अस्थियों के पास पूजन सामग्री, काला कपड़ा, महिलाओं के श्रृंगार का सामान, शराब व मीट देखकर उनके होश उड़ गए। अस्थियों से भी छेड़छाड़ की गई थी। 

श्मशान घाट के अंदर कोई ना होने पर परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने महेश नगर थाने में शिकायत दी। एसएचओ मौके पर पहुंचे तो लोगों ने श्मशान में अस्थियां तक सुरक्षित ना होने पर रोष जताया। 

ह्रदय गति रुकने से हुई थी मौत
परिजनों का कहना था कि श्मशान घाट में ना तो कोई चौकीदार है और ना ही पंडित। संस्कार करवाने के लिए भी पंडित को बब्याल व रामबाग से बुलाया जाता है। मृतक बब्याल निवासी 55 वर्षीय अजय के बेटे ने बताया कि पिता की ह्रदय गति रुकने से मौत हुई है। 

हरिद्वार में प्रवाह करने थे फूल
बुधवार को श्मशान घाट में संस्कार के बाद उन्हें 17 मई सुबह का समय दिया गया था। ताकि वह फूल चुगने के बाद हरिद्वार जाकर उनका प्रवाह कर सके। फूल चुगने से पहले ही श्मशान में ऐसा हाल देखने को मिला। यहां केवल एक लकड़ी वाला ही मौजूद होता है, उससे भी कोई जानकारी नहीं मिली कि आखिर यह छेड़छाड़ हुई कैसे। 

लोगों में डर
बब्याल मार्केट एसोसिएशन के प्रधान हरजितेंद्र सिंह ओबराय ने बताया कि इस हरकत से लोगों में डर है। आरोपित के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए, ताकि दोबारा से कोई इस तरह न करने की सोचे। महेश नगर थाना प्रभारी अजायब सिंह का कहना है कि परिजनों की शिकायत पर पूछताछ कर मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपित को पकड़ लिया जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप