जागरण संवाददाता, अंबाला : चंदपुरा में राजकीय होम्योपैथिक कालेज व अस्पताल का निर्माण कार्य चल रहा है। यहां कालेज में पढ़ाई की बेहतरीन सुविधा होगी। साथ होम्योपैथिक पद्धति से नि:शुल्क इलाज सुविधा होगी। करीब 55.85 करोड़ की लागत से बनाए जाने वाले राजकीय होम्योपेथिक कालेज व अस्पताल की नींव का 50 फीसद कार्य हो चुका है। यह बातें राज्य के गृह एवं आयुष मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार को अपने शास्त्री कालोनी स्थित आवास पर कही। उन्होंने कहा कि छावनी विधानसभा क्षेत्र के चंदपुरा में प्रदेश का यह ऐसा पहला राजकीय होम्यपैथिक कालेज व अस्पताल होगा जहां पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को रहने की सुविधा मिलेगी। साथ स्टाफ के लिए भी आवासीय सुविधा प्रदान की जाएगी।

विज ने बताया कि चंदपुरा, रामपुर, सरसेहड़ी, बब्याल, रामगढ़ माजरा, बोह एवं आसपास बसे इलाकों से कालेज की बेहतर कनेक्टिविटी होगी जिससे यहां आने-जाने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं झेलनी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि होम्योपैथिक कालेज व अस्पताल बनने से आसपास बसे इलाकों की व्यावसायिक गतिविधियों में इजाफा होगा। वहीं, पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन निशांत ने बताया कि लगभग 8 एकड़ में बने रहे होम्योपैथिक कालेज व अस्पताल की चार दीवारी बनाने का काम पूरा कर लिया गया है। करीब 55.85 करोड़ रुपये की लागत से यहां कालेज व अस्पताल का निर्माण कार्य किया जा रहा है और फाउंडेशन डालने का काम 50 फीसद पूरा हो चुका है। अस्पताल की बिल्डिग अलग से बनाई जाएगी जबकि कालेज की बिल्डिग अलग होगी। इसके अलावा ब्वायज और ग‌र्ल्स हास्टल का निर्माण यहां होगा। एक्सईएन ने बताया कि निर्माण कार्य की निगरानी की जा रही है। चार करोड़ से बनी सड़क

विज ने बताया कि बेहतर कनेक्टिविटी के लिए रामपुर-सरसेहड़ी रोड का निर्माण चार करोड़ रुपए की लागत से पूरा कर लिया गया है। यह रोड 10 मीटर तक चौड़ी है जिससे वाहन चालकों को यहां आने-जाने में कोई परेशानी नहीं होगी। अस्पताल के ठीक साथ चंदपुरा में टांगरी नदी पुल पर चार करोड़ रुपए की लागत से नया ब्रिज बनाया जा रहा है जिससे वाहन चालकों को कालेज तक आने-जाने में नया रास्ता मिलेगा।

-------------

पहले साल मिलेगा 50 विद्यार्थियों को दाखिला : डा. सतपाल

जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डा. सतपाल ने बताया कि अंबाला में प्रदेश का पहला राजकीय होम्योपैथिक कालेज व अस्पताल गृह एवं आयुष मंत्री अनिल विज के प्रयासों से बन रहा है। होम्योपैथिक कालेज शुरू होते ही पहले साल 50 विद्यार्थियों को दाखिला मिलेगा। इसके बाद हर साल सीटों की संख्या बढ़ाई जाएगी। विद्यार्थियों की पढ़ाई व अभ्यास के लिए 100 बेड का अस्पताल होगा।

Edited By: Jagran