जागरण संवाददाता, अंबाला शहर

दहेज प्रताड़ना के मामले में फौजी पति, सास, ननद और उसकी बेटी के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है। पीड़िता ने पुलिस से चारों के खिलाफ कार्रवाई करने और दहेज का सामान वापस लौटाने की गुहार लगाई है।

पुलिस को दी शिकायत में गांव जगौली निवासी नवनीत कौर ने बताया कि उसकी शादी पटियाला निवासी मलकीयत ¨सह से छह अक्टूबर 2013 को हुई थी। बरात का स्वागत व खान पान सुगन्धा पैलैस खन्ना माजरा में हुआ। कुल 19 लाख रुपये विवाह पर खर्च किए गए। इसमें से लगभग 7.5 लाख रुपये के जेवरात व 2 लाख रुपये नकद शगुन में डाले थे। शादी के बाद मेरा पति मलकीयत व मेरी सास कुलवन्त कौर दहेज को लेकर तंग करना शुरू कर दिया। कहने लगे कि 2 लाख रुपये में कौन सी कार आती है। मेरा पति फौज से छुट्टी पर आता था तो मेरी सास उसको मेरे खिलाफ भड़काती।

इसके बाद मेरे पति मुझे पीटते थे। शादी के करीब 2 साल तक जब कोई संतान नहीं हुई तो मेरी सास ने मेरे पति को दूसरी शादी के लिए उकसाया। नवनीत कौर ने बताया कि इसके अलावा मेरी ननद रानी भी मुझे तंग करती थी। क्योंकि रानी की लड़की निशु छुट्टियों में अकसर हमारे पास पटियाला आकर रहती थी। इसी दौरान जब मैं कपड़े धोने या बाथरूम में जाती थी तो निशु मेरा फोन इस्तेमाल कर लेती थी। मुझे बाद में मालूम हुआ कि वह किसी लड़के से बात करती थी और बाद में मेरी ननद ने भी उस लड़के से कई बार बातचीत की। परंतु बाद में उन्होंने अपना बचाव करने के लिए मेरे पति के सामने मेरे खिलाफ झूठे आरोप लगाकर मेरे चरित्र को गंदा बता दिया। 30 जुलाई 2017 की सुबह जब वह रसोई में काम कर रही को धक्का मारकर गैस चूल्हे पर गिरा दिया। मुझे मारने पीटने लग गई। 19 अगस्त 2017 को पंचायत हुई। जिसमें मेरे ताया दलजीत ¨सह व अन्य मौजिज आदमी शामिल हुए। फोन के बारे में सारी सच्चाई सामने लाई गई। लेकिन पंचायत भी किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सकी।

Posted By: Jagran