जागरण संवाददाता, अंबाला : अंबाला छावनी की नगर परिषद टीम वीरवार को महेशनगर में चार स्थानों प्रापर्टी टैक्स के बड़े बकाएदारों की प्रापर्टी सीलिग करने पहुंची। पहले विरोध और बाद में हुई आपसी वार्ता के बाद तीन बकाएदारों ने चेक के माध्यम से 6 लाख 31 हजार 198 रुपये टीम को सौंपे जबकि एक प्रोपर्टी कंसलटेंट की बिल्डिग में बनी दुकानों पर कोई बात न बनने के चलते सील लगा दी गई। इस दौरान एक बकाएदार और नगर परिषद के अधिकारी के बीच बहस हुई।

नगर परिषद सचिव राजेश कुमार अगुवाई में टैक्स रिकवरी टीम महेश नगर के पुष्कर टावर पर पहुंची जहां सीलिग की आरंभिक प्रक्रिया शुरू की। टावर मालिक ने रिकवरी टीम से टैक्स जमा करने के लिए समय मांगा तो पोस्ट डेटेड चेक काटने को कहा गया। इसके बाद टावर मालिक ने कुल बकाया 3 लाख 39 हजार 334 रुपये का चैक टैक्स बकाए के रूप में सचिव का सौंपा। यहां से टीम अग्रवाल आयरन स्टोर पर पहुंची जहां पर स्टोर मालिक पहले तो नोटिस न मिलने और टैक्स के कागजों में क्षेत्रफल 278 वर्गगज की जगह 298 वर्गगज दर्ज करने की शिकायत को दोहराकर चैक देने में आनाकानी करते रहे। काफी देर तक समझाने और सचिव द्वारा सीलिग की चेतावनी देने के बाद 1 लाख 38 हजार 864 रुपये का चैक स्टोर मालिक द्वारा दिया गया। इसी बीच टीम द्वारा आयरन स्टोर के साथ ही बनी कपूर प्रापर्टी कंसल्टेंट की अर्धनिर्मित बिल्डिग पर पांच लाख रुपए का बकाया जमा न करने के कारण सील लगा दी गई। यहां से टीम खुड्डा स्थित आयल स्टोर पर पहुंची जहां से कार्रवाई करने से पहले ही स्टोर मालिक ने कुल टैक्स बकाए 2 लाख 53 हजार में से 1,53,000 का चैक और बकाए एक लाख रुपया दस दिन के अंदर जमा करने का आश्वासन टीम को दिया।

Edited By: Jagran