जागरण संवाददाता, अंबाला : अंबाला छावनी के जामा मस्जिद के पास लकड़ी के गोदाम में भयंकर आग लग गई। गोदाम के साथ ही परिवार ही रहता था, जिसे सुरक्षित निकाल लिया गया। यह गोदाम पूर्व पार्षद सुरेश त्रेहन के भाई वीरेंद्र त्रेहन का है। इसी गोदाम में रखे तीन सिलेंडरों में भी ब्लास्ट भी हुआ। फायर ब्रिगेड की गाड़ी मौके पर तो पहुंच गई, लेकिन यह गाड़ी एक घंटा खाली खड़ी रही और गोदाम धू-धू कर जलता रहा। ऐसे में लोगों का विरोध भी कर्मचारियों को झेलना पड़ा। चालक दूसरी गाड़ी लेने के लिए फायर ब्रिगेड कार्यालय चला गया। इसी बीच प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज भी मौके पर पहुंच गए। हालांकि प्रशासनिक कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं था, लेकिन विज के पहुंचने की भनक लगते ही दूसरी गाड़ी भी कुछ ही देर बाद ही मौके पर पहुंच गई।

गोदाम के ऊपर चढ़कर फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने निर्माण तोड़ कर आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया। इसी गोदाम के पीछे प्लास्टिक का गोदाम है। यहां तक आग पहुंचती, तो हादसा भयंकर हो सकता था। आग लगने के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। लेकिन माना जा रहा है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी है। गोदाम में आरे की तीन मशीनें, ट्रैक्टर, लकड़ी सहित अन्य सामान जलकर राख हो गया। करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। गोदाम मालिक वीरेंद्र त्रेहन के कर्मचारी का परिवार इस गोदाम में रहता था। इस परिवार को सुरक्षित निकाल लिया गया। त्रेहन ने बताया कि इस आग लगने के कारण लाखों का नुकसान हुआ है।

-----------

आग की तपिश से पिघल गई एक्टिवा

जिन गोदामों में आग लगी उसके ठीक सामने एक एक्टिवा खड़ी थी। इस एक्टिवा ने भी तपिश लगी, जबकि इसके कारण इसने भी आग पकड़ ली। मौके पर खड़े लोगों ने मस्जिद से पानी की बाल्टियां भरी और आग बुझाई। इसके बाद एक्टिवा को दूर ले गए। इसी तरह यहीं पास में खड़ी एक कार को भी चालक घटनास्थल से दूर ले गया।