दीपक बहल, अंबाला

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ को भारतीय सेना की जानकारी चंद रुपयों के लिए लीक करने का अंबाला में दूसरा मामला महज तीन माह में ही सामने आ गया है। अंबाला के शहजादपुर ब्लाक के गांव कोड़वा खुर्द का रोहित कुमार फेसबुक के माध्यम से यूके की एक लड़की के संपर्क में आया और सूचनाएं आदान-प्रदान करने लगा। सेना की मूवमेंट और फोटो वाट्सएप पर शेयर करने के बाद डाटा डिलीट कर देता था। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि इस एवज में वर्ष 2018 से अब तक उसके आंध्रा बैंक वाले खाते में रुपये आते रहे हैं।

वहीं पुलिस ने रोहित के करीब पांच मोबाइलों को जब्त किया है। इन सभी मोबाइलों से डाटा डिलीट है। इन मोबाइलों से डाटा रिकवर करने के लिए पुलिस इन्हें पंचकूला लैब भेजेगी। पुलिस बैंक के खातों की भी डिटेल खंगालने में जुट गई है ताकि पता चल सके कि किस-किस देश से रुपये खाते में आए हैं। रोहित सन 2012 में सेना में भर्ती हुआ था और मौजूदा समय में 68 रेजिमेंट भोपाल मध्य प्रदेश में तैनात है। यह मामला बिलकुल पलवल पुलिस के कांस्टेबल सुरेंद्र कुमार के मामले जैसा है। सेना से रिटायर्ड सुरेंद्र भी फेसबुक के माध्यम से ही लड़की के संपर्क में आया था। सुरेंद्र के बाद रोहित की गतिविधियां संदिग्ध देख आर्मी इंटेलिजेंस उस पर निगाहें रखी थीं। पूछताछ में सामने आया है कि रोहित वाट्सएप कालिग पर यूके की लड़की से बात करता था और उसको वहां से काल भी आती थी।

--------------

सीआइए को जांच सौंपी

एसएसपी हामिद अख्तर ने इस मामले की जांच शहजादपुर थाना पुलिस से लेकर सीआइए नारायणगढ़ को सौंपी गई है। आरोपित को सात दिन के पुलिस रिमांड पर लेने के बाद सीआइए पूछताछ कर रही है।

-----------

इस तरह का है सुरेंद्र का मामला

आइएसआइ के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किए गए सुरेंद्र कुमार के माल रोड स्थित स्टेट बैंक आफ इंडिया (एसबीआइ) की शाखा के खाते में सऊदी अरब से सात बार रुपये भेजे गए थे। अधिकतम रुपये 15 हजार ही हैं। बैंक खाते में करीब 70 हजार रुपये विदेश से आए हैं। सुरेंद्र भी महिला से 2018 से संपर्क में आया था। 15 जुलाई 2021 को पलवल की कैंप पुलिस ने सुरेंद्र कुमार के खिलाफ आफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। अंबाला छावनी के बोह गांव के रहने वाले सुरेंद्र कुमार सेना पुलिस से सेवानिवृत्त है और पलवल में बतौर हवलदार तैनात था।

------------

जानकारियां साझा की : एसएसपी

एसएसपी अंबाला हामिद अख्तर ने बताया कि आरोपित रोहित ने पुलिस पूछताछ में माना है कि कुछ जानकारियां साझा की गई हैं। उसके मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं। सभी मोबाइलों से डाटा डिलीट करने का कारण पूछा जा रहा है।

Edited By: Jagran