जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : जलबेहड़ा रोड चौक पर बिजली निगम की लापरवाही से बृहस्पतिवार को एक बेजुबान ने दम तोड़ दिया। बेजुबान घोड़ी को करंट ने इस कदर अपनी ओर खींचा कि उसकी चित्कार भी नहीं निकल पाई। हादसे में घोड़ी को बचाते हुए मालिक काका खान को भी हल्का करंट लगा। गनीमत रही कि वह बड़े हादसे का शिकार होने से बच गए। हादसे के तुरंत बाद लोगों ने बिजली निगम को जानकारी दी लेकिन हादसे के दो घंटे बाद कर्मी पहुंचे और खानापूर्ति कर चलते बने। अलबत्ता एक और हादसे का इंतजार अभी बिजली निगम को है। इसके बाद ही निगम कर्मी प्रशासनिक लताड़ के बाद जागेंगे। वहीं घोड़ी की मौत के चलते काका खान के सामने रोजगार का संकट भी खड़ा हो गया है।

जानकारी के अनुसार जलबेहड़ा रोड चौक पर एक बिजली का खंभा लंबे समय से टूटा हुआ है। इसे ठीक कराने के लिए दुकानदार कई बार एसडीओ को बोल चुके हैं। लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। इसी टूटे हुए खंभे के चलते अर्थिंग में बृहस्पतिवार को करंट आ गया और घोड़ी के पांव में हाल में लगे लोहे के कारण करंट ने घोड़ी को अपनी ओर खींच लिया। करंट इतना तेज था कि घोड़ी की तुरंत मौत हो गई। पार्षद दलजीत ¨सह भाटिया ने बताया कि वह कई बार इस खंभे को ठीक कराने के लिए पत्र लिख चुके हैं लेकिन बिजली निगम के एसडीओ सुनने के लिए तैयार नहीं हैं। इसीलिए आज घोड़ी को जान से हाथ धोना पड़ा। उन्होंने बिजली निगम से घोड़ी के मालिक को मुआवजा देने की मांग की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस