जेएनएन, अंबाला। हरियाणा में सरकारी छुट्टी में ईद की छुट्टी शामिल नहीं है। ईद की छुट्टी को लेकर प्रस्ताव कैंटोनमेंट बोर्ड की बैठक में भी रखा गया, जहां पर कुछ सदस्यों ने सरकारी 14 छुट्टियों के साथ ही ईद की छुट्टी की भी मांग की, लेकिन ईद की छुट्टी पर मंजूरी नहीं मिली। कैंटोनमेंट के प्रेसीडेंट सांख्यान ने शुक्रवार को बोर्ड बैठक ने सदस्यों से पूछा कि कैंटोनमेंट में कोई मुस्लिम है। सदस्यों ने मना कर दिया। तब प्रेसीडेंट ने कहा कि जब बोर्ड में कोई मुस्लिम ही नहीं है तो फिर छुट्टी क्यों।

ईद की छुट्टी को मंजूरी नहीं है। वैसे भी गैजेटेड 14 छुट्टियां ही बहुत हैंं। कुछ सदस्यों ने ईद की छुट्टी के लिए दोबारा से भी मांग की, लेकिन मंजूरी नहीं मिल पाई। ऐसे में सदस्यों का कहना है कि ईद भी धार्मिक पर्व है। इस पर भी छुट्टियां होनी चाहिए। जैसा कि अन्य त्योहारों पर मिलती है। धार्मिक पर्व है, इसलिए मिलनी चाहिए छुट्टी कुछ सदस्यों का कहना है कि ईद धार्मिक पर्व है। इस पर्व पर भी कैंटोनमेंट बोर्ड में छुट्टियां होनी चाहिए। सभी धार्मिक त्यौहारों पर 14 सरकारी छुट्टियां मिलती है, लेकिन ईद पर नहीं। ऐसे में ईद पर भी छुट्टी जारी होनी चाहिए।

ये हैं सरकारी छुट्टियां

26 जनवरी, 9 फरवरी गुरु रविदास जयंती, 21 फरवरी महाशिवरात्रि, 10 मार्च होली, 6 अप्रैल महावीर जयंती, 14 अप्रैल डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती, 12 अगस्त जन्माष्टमी, 15 अगस्त, 2 अक्टूबर महात्मा गांधी जयंती, 25 अक्टूबर दशहरा, 31 अक्टूबर महर्षि वाल्मीकि जयंती, 14 नवंबर दीवाली, 30 नवंबर गुरू नानक जयंती, 25 दिसंबर क्रिसमस-डे समेत 14 छुट्टियां सरकारी है। इन छुट्टियों में ईद की छुट्टी शामिल नहीं की गई है।

---

बोर्ड में छुट्टियों पर मंथन हो रहा था तो प्रेसीडेंट ने कहा कि जब मुस्लिम नहीं है तो छुट्टी नहीं बनती। गैजेटेड 14 छुट्टियां है। यह ज्यादा बड़ा इस्यू नहीं है। जिसको उछाला जाए। - अजय बवेजा, उपाध्यक्ष कैंटोनमेंट बोर्ड अंबाला छावनी

---

यह लोकतांत्रिक देश है। सभी धर्मों का आदर करना है। ईद की छुट्टी अगर छावनी परिषद में होती तो इससे छावनी की प्रतिष्ठा घटती नहीं बल्कि बढ़ती। - सुरेंद्र तिवारी, सदस्य कैंटोनमेंट बोर्ड अंबाला छावनी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस