जिस फीनिक्स क्लब के अंबाला मंडल के कमिश्नर प्रेजीडेंट तो डीसी वाइस प्रेजीडेंट हैं, यह क्लब ही सरकार का कर्जदार है। यह सुनकर हैरानी हुई और आपको भी हुई होगी। हो भी क्यों न मामला आला अफसरों से ही नहीं बल्कि रसूखदार लोगों से जुड़ा है। पता चला है कि अंबाला छावनी के फीनिक्स क्लब सरकार का ही कर्जदार है। वह काफी समय से। क्लब में कमिश्नर और डीसी को पदाधिकारी मनोनीत किया गया है। क्लब की गतिविधियों में इन पदाधिकारियों की सक्रियता साफ देखी जा सकती है। अब बात करें कर्जदार होने की तो इस क्लब पर सरकार का ही काफी टैक्स बकाया है। संबंधित विभाग ने जब लिस्ट तैयार की तो पता चला कि क्लब के ऊपर काफी टैक्स बकाया है। यानी सरकार ही मालिक है और सरकार ही कर्जदार बनी हुई है। चलो जमा भी करवा देते, लेकिन हैरानी है कि विभाग में भी अब चर्चा होने लगी है कि जब मालिक ही सरकार है, तो कौन वसूल करेगा। चलो जो भी हो, एक बात तो साफ है कि अफसरों को पदाधिकारी बना दो तो सब कुछ चल जाएगा। यदि, 31 जनवरी तक टैक्स जमा होगा तो कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा।

---------------------------

सीएम के स्वागत में विज का अंदाज निराला सीआईडी की रिपोर्टिंग को लेकर चल रही खींचतान के बीच रविवार को एयरफोर्स स्टेशन पर पहुंचे प्रदेश के सीएम मनोहर लाल का गृह मंत्री अनिल विज ने अनोखे अंदाज में स्वागत किया। हालांकि अन्य अफसरों ने भी यहां पर सीएम का स्वागत किया, लेकिन विज ने जिस अंदाज में स्वागत किया, वह अन्य से अलग ही रहा। इन दिनों प्रदेश में सीआईडी की रिपोर्टिंग किसे हो, इस पर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया। इसी को लेकर विपक्ष भी अपना नजरिया रख चुके हैं, लेकिन अभी तक इस पर फैसला लिया जाना बाकी है। जैसे ही सीएम एयरफोर्स स्टेशन पर पहुंचे मंत्री अनिल विज सहित भाजपा पदाधिकारी व अफसर भी मौजूद थे। यहां पर सभी ने सीएम का गुलदस्ता देकर स्वागत किया। लेकिन इसी बीच मंत्री विज ने गमला भेंट कर उनका स्वागत किया। सीएम और गृह मंत्री ने कुछ देर बातचीत की और फिर सीएम जहाज की ओर बढ़ गए। लेकिन जहाज में बैठते वक्त सीएम ने विज की ओर हाथ बढ़ाया। विज ने भी हाथ बढ़ाकर अभिवादन स्वीकार किया। इसके बाद सीएम जहाज में बैठे और आगे के लिए रवाना हो गए। यह छोटी सी मुलाकात राजनीतिक क्षेत्रों में चर्चा का विषय बनी है और वह भी तब जब सीएम और गृह मंत्री के बीच सीआईडी की रिपोर्टिंग किसे होगी, इसे लेकर कोई अंतिम निर्णय नहीं हो पाया है।

----------------------

--------------------

आईपीएस की लिस्ट का इंतजार

इन दिनों आईपीएस की लिस्ट का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि यह लिस्ट जारी हो जानी चाहिए थी, लेकिन सीआईडी की रिपोर्टिंग को लेकर चल रही खींचतान के चलते इसे रोक लिया गया। ऑफिसर लॉबी में इसकी काफी चर्चा है कि यह कब जारी होगी। क्योंकि कई अफसरों की प्रमोशन का जो मामला है। चर्चा है कि यदि सीआईडी की रिपोर्टिंग की खींचतान वाला मामला न चलता तो हो सकता था कि यह जारी हो चुकी होती। लेकिन माना जा रहा है कि इस में अभी कुछ और देरी हो सकती है। माना जा जा रहा है कि विधानसभा सत्र के बाद ही इसी जारी किया जा सकेगा। तो अभी इस मामले में और इंतजार करना पड़ सकता है।

--------------------

फरवरी में राजनीतिक धमाके की तैयारी में चौधरी साहब

कांग्रेस से बगावत कर विधानसभा चुनावों में दमदार मौजूदगी जताने वाले चौधरी निर्मल सिंह फरवरी माह में राजनीतिक धमाका करने की तैयारी में है। इसी की राजनीतिक चर्चाएं भी होने लगी हैं। विस चुनावों में कांग्रेस टिकट न मिलने पर चौधरी साहब और उनकी बेटी ने आजाद प्रत्याशी के तौर पर चुनावी मैदान में ताल ठोकी। रिस्पांस भी अच्छा मिला जबकि अब इससे दो कदम और आगे चलने की तैयारी कर चुके हैं चौधरी साहब। ऐलान किया था कि फरवरी माह में अपनी पार्टी का ऐलान करेंगे, तो अब ज्यादा समय नहीं बचा है। अब देखते हैं कि नई पार्टी का गठन होता है या फिर कुछ और राजनीतिक चाल चली जाती है। प्रस्तुति : दीपक बहल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस