जागरण संवाददाता, अंबाला शहर :

डेयरी कांप्लेक्स में चल रही अनियमितताओं को देखने के लिए निगम आयुक्त विरेंद्र लाठर वीरवार को खतौली पहुंचे। यहां पर उन्होंने पहले सारी व्यवस्थाएं देखी और इसके बाद डेयरी कांप्लेक्स में रहने वाले लोगों को बुलाकर नालियों में गोबर न बहाने के निर्देश दिए। इतना ही नहीं आयुक्त ने यह भी कहा कि कोई भी डेयरी संचालक सबमर्सिबल का प्रयोग न करे बल्कि नगर निगम द्वारा लगाए गए ट्यूबवेल का ही प्रयोग किया जाए।

----------------------

खुद की व्यवस्थाएं सुचारू होने के बाद थमाए जाएंगे नोटिस

डेयरी कांप्लेक्स खतौली के हालात यह हैं कि यहां पर खड़े होना भी दुश्वार है। क्योंकि पूरे डेयरी कांप्लेक्स में निकासी का कोई साधन नहीं है जो नालियां बनाई गई हैं उनमें गोबर बहाने के कारण वह लबालब हो चुकी हैं। यही कारण है कि पूरे डेयरी कांप्लेक्स में गंदगी व बदबू का आलम है और यहां रह रहे लोग भी बीमारी का शिकार हो सकते हैं।

------------------------

नहीं मान रहे डेयरी संचालक

नगर निगम के द्वारा यहां रहे रहे डेयरी संचालकों को पहले भी नोटिस दिए जा चुके हैं कि नालियों में गोबर न बहाएं बल्कि निर्धारित किए गए तीन स्थानों पर गोबर को एकत्रित करें लेकिन डेयरी संचालक सुविधा को देखते हुए पानी डालकर नालियों में गोबर बहा देते हैं। नोटिस देने और चालान काटने के बावजूद स्थिति जस की तस है। अब इसका स्थायी समाधान निकालने निगम आयुक्त धीरेंद्र लाठर खुद मौके पर पहुंचे थे।

---------------

गैर कानूनी तरीके से लगाए सबमर्सिबल

इस डेयरी कांप्लेक्स में इस समय करीब-113 डेयरी संचालक हैं। इनमें से ज्यादातर ने सबमर्सिबल लगा लिए हैं लेकिन किसी ने भी इसके लिए अनुमति नहीं ली है। इन्हीं सबमर्सिबल का प्रयोग के कारण पानी का भी ज्यादा दुरुपयोग किया जा रहा है जोकि मुख्य समस्या बना हुआ है।

------------------

ढाई करोड़ का लगेगा आइपीएस लगेगा

डेयरी कांप्लेक्स से जल की स्थायी निकासी के लिए यहां पर ढाई करोड़ की लागत से इंटरमीडिएट पंपिग स्टेशन यानी आइपीएस लगाया जाएगा। इसकी ड्राइंग बन चुकी है और बजट भी पास हो चुका है। निरीक्षण के दौरान आयुक्त के साथ मौके पर चीफ इंजीनियर महिपाल, एक्सईएन संजीव गुप्ता, वार्ड नंबर 3 के सदस्य आनंद, ईओ जरनैल सिंह, चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर सुनीलदत्त के अलावा डेयरी प्रधान नितिन सबरवाल भी मौजूद रहे।

--------------------

नालों का भी किया आयुक्त ने निरीक्षण

इसके बाद नगर निगम आयुक्त ने इंको ड्रेन, घेल ड्रेन और सेशन ड्रेन का भी निरीक्षण किया और मानसून से पहले इनकी सफाई के यथोचित बंदोबस्त करने के निर्देश दिए ताकि शहरवासियों को आगामी सीजन में दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

Edited By: Jagran