अंबाला [जेएनएन/एएनआइ]। हरियाणा में कोवैक्सीन के तीसरेे चरण का ट्रायल शुरू हो गया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज खुद स्वदेशी को-वैक्सीन के ट्रायल में वालंटियर के रूप में पहुंचे। उन्हें डॉक्टरों ने परीक्षण टीका लगाया। विज अंबाला छावनी के नागरिक अस्पताल में सुबह ही पहुंच गए थे। रोहतक पीजीआइ के वरिष्ठ चिकित्सकों की देखरेख में वैक्सीन का ट्रायल किया जा रहा है। 

हरियाणा में कोवैक्सीन के टीके के परीक्षण की जिम्मेदारी पंडित भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के पीजीआइएमएस को सौंपी गई है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इस परीक्षण में शामिल होने का प्रस्ताव रखा था।

भारत बायोटेक व इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) के संयुक्त तत्वावधान में तैयार की जा रही को-वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण किडनी, लीवर व हार्ट के रोगों से ग्रस्त लोगों पर भी किया जाएगा। पीजीआइएमएस में एक हजार वॉलंटियर्स पर परीक्षण होगा। इसमें से 200 हेल्दी वॉलंटियर्स पर तेजी से ट्रायल किया जाएगा। इनको 28 दिन बाद दूसरी डोज दी जाएगी। 18 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले वॉलंटियर्स को कंधे के जरिए को-वैक्सीन की छह एमजी की डोज दी जाएगी। 

बता दें कि कुल 21 सेंटर पर 25 हजार 800 वालंटियर्स पर परीक्षण होगा। परीक्षण टीम के मुताबिक 42 दिन बाद शरीर में एंटीबॉडी की स्थिति मापी जाएगी। इस समय सीमा के बाद भी एंटीबॉडी बनती हैं तो ट्रायल को सफल माना जाएगा। विश्वविद्यालय के कुलपति डा. ओपी कालरा ने कहा कि यदि परीक्षण सफल रहता है तो अप्रैल-मई तक वैक्सीन तैयार हो सकती है।

यह भी पढ़ें : अमृतसर के अटारी में फाजिल्का की युवती से सामूहिक दुष्कर्म, माथा टेकने बाबा शहीदां साहिब गई थी पीड़िता

यह भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसान संगठनों से बातचीत करेंगे पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह

यह भी पढ़ें : Exclusive Interview: पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने बताई पार्टी की रणनीति, अपने दम पर कूदेंगे चुनाव मैदान में

यह भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन का खामियाजा भुगतता पंजाब, कारोबारी ही नहीं, खुद किसान भी परेशान

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021