जेएनएन, बराड़ा (अंबाला)। बराड़ा नगरपालिका के पार्षद परमजीत सिंह उर्फ प्रिंस ने अपने साथियों के साथ मिलकर दो दिन पूर्व जन्माष्टमी मेले में एक युवती से छेड़खानी करते हुए उसके भाई की बाइक को टक्कर मार दी। बीचबचाव करने आए पुलिसकर्मियों से भी उक्त लोगों ने हाथापाई की।

पुलिस पार्षद प्रिंस सहित उसके साथियों साबी, अमरजीत, गुरमीत व रिंकू को बराड़ा थाने ले गई। वहां इन लोगों ने दो कंप्यूटर तोड़ दिए और जवानों के साथ अभद्र व्यवहार भी किया। इस पर पुलिस ने सभी के खिलाफ हत्या के प्रयास, छेडख़ानी, सरकारी संपति को नुकसान, सरकारी कर्मियों से मारपीट व ड्यूटी में बाधा डालने का केस दर्ज कर लिया।

सूचना मिलते ही उक्त लोगों के परिजन व अन्य पार्षद भी थाने पहुंच गए। मगर पुलिस ने उन्हें धक्के मारकर बाहर निकाल दिया और मुख्य गेट अंदर से बंद कर दिया। जब कुछ मीडिया कर्मियों और नगरपालिका चेयरपर्सन के पति अनमोल खेत्रपाल ने थाना प्रभारी कर्ण सिंह से बातचीत का प्रयास किया तो उसने सभी के साथ अभद्र व्यवहार किया।

गत सुबह एसपी अशोक कुमार के संज्ञान में मामला आते ही उन्होंने एसएचओ सब इंस्पेक्टर कर्ण सिंह को सस्पेंड कर दिया। साथ ही इंस्पेक्टर रमेश कुमार को थाने का चार्ज सौंपा। वहीं पार्षद प्रिंस सहित उसके साथियों साबी, अमरजीत, गुरमीत व रिंकू को सोमवार को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया।

डीएसपी बराड़ा सुधीर तनेजा का कहना है कि देर शाम दो पक्षों में युवती के साथ छेडख़ानी को लेकर झगड़ा हो गया था। इसी दौरान बीच-बचाव करने आई पुलिस के साथ पार्षद ने अपने साथियों के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए मारपीट की थी। इन लोगों ने थाने में भी दो कंप्यूटर तोड़ दिए थे। इसलिए शिकायत के आधार पर आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर सोमवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt