जागरण संवाददाता, अंबाला शहर: नियम सख्त हुए और नगर निगम आयुक्त ने डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में चल रहे घोटाले पर अंकुश लगाते हुए टेंडर की शर्तों में बदलाव कर दिया गया तो ठेकेदारों ने भी हाथ खींच लिए। डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का टेंडर लेने के लिए जहां ठेकेदारों में आपाधापी मचती थी इस बार टेंडर लेने के लिए ही कोई भी ठेकेदार नहीं आया। इसी कारण डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन का टेंडर नहीं हो सका। अलबत्ता अब ट्विन सिटी वासियों को जल्द ही कूड़े की समस्या से निजात नहीं मिलेगी। अब दोबारा से टेंडर का एक सप्ताह बढ़ाया जाएगा। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई तय हो सकेगी। मसलन शहरवासियों को अब डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन सुविधा के लिए इंतजार करना होगा। क्यों खींचे ठेकेदारों ने हाथ पीछे

दरअसल, इस बार कूड़े के पांच टेंडर कर दिए गए। हुडा का अलग, छावनी और शहर का अलग व डं¨पग प्वाइंट से कूड़ा उठाने का अलग। डं¨पग प्वाइंट से कूड़ा उठाने के लिए तो आवेदन आ गए लेकिन डोर टू डोर कूड़ा उठाने के लिए नहीं आए। क्योंकि ठेकेदारों को हर वार्ड में एक शिकायत समाधान केंद्र खोलना, कूड़ा न उठाने पर जुर्माना इत्यादि शर्तें और यूआइडी कोड स्कैन करने की शर्त अनिवार्य कर दी गई। इसी कारण ठेकेदारों ने हाथ पीछे खींच लिए। अलबत्ता ठेका नहीं होने तब अब निगम के 1049 कर्मचारियों से ही यह सारा काम लिया जाएगा। बता दें कि ट्विन सिटी में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन और डं¨पग प्वाइंट से कूड़ा उठाने के लिए प्रति माह 1.20 करोड़ का ठेका पूर्व में दिया गया था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप