जागरण संवाददाता, अंबाला : मिशन स्वच्छता सर्वेक्षण 2020-21 को लेकर नगर परिषद द्वारा 2 से 17 अक्टूबर तक अंबाला छावनी के सरकारी महकमे, अस्पताल, स्कूल, कालेज, होटल, रेस्टोरेंट आदि का सर्वे किया गया। सभी में टीम ने देखा कि किस विभाग में कितनी साफ-सफाई है। एनजीटी के मानकों के आधार पर नंबर दिए गए। सरकारी महकमों की अगर बात करें तो स्वच्छता सर्वेक्षण में करीब 30 सरकारी दफ्तरों का सर्वे हुआ।

इनमें एलआइसी ऑफिस, जीपीओ ऑफिस, अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन, पुलिस स्टेशन सदर सरकारी महकमों में सबसे बेहतर व्यवस्था मिली। इन चारों सरकारी महकमों को 91 से 100 तक के बीच में नंबर दिए गए। साथ ही इनको ए-प्ल्स ग्रेड मिला है। इसके अलावा अन्य सरकारी महकमों को बी-प्लस और सी ग्रेड मिला है। मतलब बाकी दफ्तरों में स्वच्छता की कमी है। ए-प्लस ग्रेड के लिए बाकी महकमों को भी स्वच्छ होना पड़ेगा। यह रिपोर्ट बनाकर नगर परिषद ने एनजीटी को ऑनलाइन सौंप दी है।

---------------

ये हैं सबसे स्वच्छ सरकारी महकमे

सरकारी महकमों की अगर बात करें तो नगर परिषद ने स्वच्छता में सबसे बेहतर एलआइसी ऑफिस, जीपीओ ऑफिस, अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन, पुलिस स्टेशन सदर आदि को माना है। बाकी सरकारी दफ्तर इनसे नीचे की श्रेणी में है।

-----------

ये हैं सबसे स्वच्छ होटल-ढाबा

स्वच्छता सर्वेक्षण में अगर होटल की बात करें तो सबसे बेहतर होटल पालम, प्यरामिड, होटल सेवल इलेवन जंक्शन, फूड कोर्ट रेस्टोरेंट, इंडियन रोलर और शर्मा ढाबा है। जहां पर बेहतर साफ-सफाई रहती है।

------------

50 स्कूल-कालेजों में सात ही ए-प्लस में

नगर परिषद की टीम ने एनजीटी की गाइडलाइन के आधार पर करीब 50 स्कूल-कालेजों में सर्वे किया। यहां पर स्वच्छता के सभी मानकों को जाकर देखा। इनमें से एसडी पब्लिक स्कूल, डीएवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, डीएवी रीवर स्कूल, बीपीएस स्कूल, गर्वमेंट ब्रांच स्कूल, एसडी कालेज, जीएमन कालेज आदि में बेहतर व्यवस्था मिली।

-------

सिविल अस्पताल समेत आठ अस्पताल सबसे बेहतर

सर्वेक्षण में 22 अस्पताल में से महज सात ही बेहतर मिले। इनमें सिविल अस्पताल, गार्डियन अस्पताल, आरके अनेजा अस्पताल, सी लाल अस्पताल, लाइफ लाइन अस्पताल, वोहरा आई अस्पताल, अभिनी अस्पताल, रोटरी कैंसर और कौशिक मेडिकेयर होम आदि को सर्वाधिक अंकों के साथ ए-प्लस ग्रेड मिला है।

-------------

वर्जन

हमने स्वच्छता सर्वेक्षण की सभी रिपोर्ट जारी कर दी है। साथ ही एनजीटी को ऑनलाइन भेजी है। इसमें स्वच्छता मानकों के आधार पर सर्वे किया गया है।

रीतू शर्मा, को-आर्डिनेटर, अंबाला छावनी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021