जागरण संवाददाता, अंबाला: छावनी के नागरिक अस्पताल में पहुंचने से पहले ही एक महिला ने एंबुलेंस में बच्चे को जन्म दे दिया। जच्चा-बच्चा दोनों को अस्पताल पहुंचाया गया।एंबुलेंस में ही डिलीवरी होने पर आशावर्कर महिला वार्ड की ओर भागी। जहां डाक्टर व स्टाफ नर्स को लेकर तुरंत एंबुलेंस के पास पहुंची। चिकित्सकों ने जच्चा-बच्चा की नाड़ अलग की गई। इसके बाद महिला को आप्रेशन थिएटर में ले गए। हालांकि इससे पहले अस्पताल के आईपीडी ब्लॉक के मुख्य गेट पर कोई स्टेचर न होने के कारण परिजन भड़क गए। काफी देर बाद परिजनों को स्टेचर मिला। महिला वार्ड के अंदर ड्रे¨सग के बाद जच्चा में खून की कमी और बच्चे का वजन कम होने के कारण उन्हें पीजीआई रेफर कर दिया। मुलाना से छावनी अस्पताल रेफर हुई थी महिला

मुलाना के अमित अपनी गर्भवती पत्नी अनुराधा का चेकअप करवाने के लिए मुलाना के सामुदायिक केंद्र पहुंचा था। डाक्टर ने महिला का चेकअप किया तो खून की कमी थी। हालत बिगड़ने से पहले ही डाक्टर ने उन्हें छावनी के नागरिक अस्पताल रेफर कर दिया था। एंबुलेंस में आशावर्कर सपना व गर्भवती पत्नी के साथ अमित अंबाला की तरफ आ रहा था कि रास्ते में महिला दर्द से कराहने लगी। महेश नगर के पास ही महिला का दर्द बढ़ गया और उसने एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म दे दिया। आशावर्कर ने महिला को संभाला और छावनी के नागरिक अस्पताल लेकर पहुंचे। सपना का कहना था कि महिला आठ माह की गर्भवती थी। समय-समय पर चेकअप भी करवाया जा रहा था। खून के कमी के कारण महिला की हालत बिगड़ी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस