जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : डीआरओ निर्मला दहिया द्वारा कैंटोनमेंट कर्मियों से पांच दिनों की मोहलत लेते हुए 10 जुलाई को उनकी हड़ताल खत्म करा दी थी।इस अवधि में कर्मियों की मांगों का जब कोई हल नहीं निकला तो मंगलवार को डीसी कार्यालय पहुंच गए। पूरे मामले बारे डीसी को अवगत कराया। हालांकि, डीसी ने तय अवधि में मांगें पूरी कराए जाने के आश्वासन बारे अनभिज्ञता जताई। ऐसे में कर्मियों ने चेताया है कि अगर अगले पांच दिनों में उनकी मांगों का समाधान नहीं निकला तो वह फिर भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे। इस मौके बोर्ड कर्मी संजय कुमार, प्रमोद मल्होत्रा, हरीश, ओमप्रकाश, विनोद कुमार, नेत्रपाल ¨सह आदि ने बताया कि उन्होंने बोर्ड में हो रहे कर्मचारियों के शोषण बारे प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्रालय व स्थानीय सीईओ को भी शिकायत की थी लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। अंबाला कैंटोनमेंट बोर्ड एम्पलाइज यूनियन अपनी मांगों को लेकर 2 जुलाई से 10 जुलाई तक हड़ताल पर भी रही। कर्मियों के अनुसार उनकी मांगें छठा व सातवां वेतन आयोग की विसंगतियां, महंगाई भत्ता, मेडिकल भत्ता, एलटीसी व छुट्टियों से संबंधित हैं। जिला राजस्व अधिकारी निर्मला दहिया ने पांच दिनों में मांगों का समाधान निकलवाने की बात का आश्वासन देकर हड़ताल खत्म करा दी थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस