जागरण संवाददाता, अंबाला : अपनी ड्यूटी को समर्पित आइपीएस भारती अरोड़ा ने भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति की राह पर चलने के लिए वालंटियर रिटायरमेंट स्कीम (वीआरएस) के तहत सेवानिवृत्त मांगी जिस पर राज्य सरकार ने सहमति जता दी है। अब एक दिसंबर को आइपीएस अधिकारी रिलीव हो जाएंगी, जिसके लिए अब से ही नए आइपीएस की तलाश शुरू हो गई है। अंबाला रेंज की कमान संभालने के इच्छुक आइपीएस अधिकारी अपना जुगाड़ लगाने में जुट गए हैं।

आइपीएस भारती अरोड़ की अंबाला में तीसरी बार पोस्टिग हैं। आइजी से पहले वह अंबाला में जिले की एसपी और राजकीय रेलवे पुलिस की भी एसपी रहीं हैं। रेलवे पुलिस में रहते भारती अरोड़ा ने लावारिश शवों की पहचान को लेकर अभियान चलाया था जिसको लेकर वे काफी सुर्खियों में रहीं थी। जिन लोगों की मरने के बाद शिनाख्त नहीं होती उनके स्वजनों की तलाश में अभियान चलाया गया था जिसके चलते कई लोगों की शिनाख्त हो गई थीं। मृतक के कपड़ों और मौके से मिले दस्तावेज या अन्य सामान से शिनाख्त हुई थी। रेलवे एसपी का पद छोड़ते ही यह अभियान ठहर गया। जिले में एसपी रहते जेल में धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन भी करवाया गया जिसमें बड़ी-बड़ी हस्तियों ने शिरकत की थी। आइजी ने नशे को छुड़वाने के लिए भी पहल की थी।

-----------------------

इस तरह शुरू हुआ वीआरएस का सिलसिला

भारती अरोड़ा ने प्रदेश के मुख्य सचिव व डीजीपी को लिखे पत्र में एक अगस्त 2021 से सेवानिवृत्ति मांगी थी। उन्होंने तीन माह के नोटिस पीरियड से भी छूट का आग्रह किया था लेकिन राज्य सरकार ने तब इस पर फैसला नहीं लिया था। करीब 23 साल की नौकरी के बाद भारती अरोड़ा का यह कदम चर्चाओं में हैं। वे हरियाणा की पहली महिला आइपीएस हैं, जिन्होंने वीआरएस मांगी है। हरियाणा से पहले भारती अरोड़ा का कैडर दूसरा था, जबकि बाद में उन्होंने हरियाणा कैडर में सर्विस ज्वाइन की। 1998 बैच की आइपीएस भारती अरोड़ा ने 7 सितंबर 1998 को सर्विस शुरू की थी। हालांकि भारती अरोड़ा की रिटायरमेंट 31 मार्च 2031 को होनी थी। 20 मार्च 1971 को उनका जन्म हुआ था। भारती अरोड़ा हरियाणा में राजकीय रेलवे पुलिस में एसपी, अंबाला एसपी, कुरुक्षेत्र एसपी, राई स्पो‌र्ट्स कांप्लेस में प्रिसिपल, करनाल रेंज में आइजी रहीं हैं। मौजूदा समय में वे अंबाला रेंज की आइजी हैं। यह लेटर उन्होंने 24 जुलाई 2021 को लिखा था लेकिन बाद में फिर से पत्राचार शुरू हुआ।

--------------

यह लिखा था पत्र में

आइपीएस भारती अरोड़ा ने प्रदेश के मुख्य सचिव व डीजीपी को पत्र लिखा है। इस में उन्होंने लिखा है कि वे 1998 बैच की आइपीएस हैं और उन्होंने हरियाण कैडर में 7 सितंबर 1998 को सर्विस ज्वाइन की थी। उन्होंने बताया कि वे स्वेच्छा से पत्र लिखकर 1 अगस्त 2021 से सेवानिवृत्ति चाहती हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि नियम अनुसार तीन माह का जो नोटिस पीरियड दिया जाना चाहिए, उसमें उनको छूट दी जाए। उन्होंने कहा पुलिस सर्विस उनके लिए गर्व और जुनून रहा है। वे अब जीवन का लक्ष्य हासिल करना चाहती हैं। वे गुरुनानक देव, चैतन्य महाप्रभु, कबीरदास, तुलसीदास, सूरदास, मीराबाई तथा सूफी संतों की राह चलना चाहती हैं। वे अपना शेष जीवन प्रभु श्रीकृष्ण की भक्ति में बिताना चाहती हैं।

Edited By: Jagran