जागरण संवाददाता, अंबाला : जनता के खून पसीने की गाढ़ी कमाई को सत्ता में आते ही भाजपा सरकार ने शहर की खूबसूरती के नाम पर अरबों रुपए बर्बाद किया गया। प्रदेश में जनता को रोजगार देने व बिजली, पानी, सड़क, स्ट्रीट लाइट, श्मशान घाट, फिरनी जैसे कार्यो को दुरुस्त करने की बजाए टैक्स व अन्य तरीकों से जनता से अर्जित आय को अनियोजित ढंग से विकास कार्यो में लगाने व करोड़ो की मूर्तियां व चौक बनाने पर खर्चने की होड़ लगी है। नगर निगम से मिली जन सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत दी गई जानकारी के बाद इनेलो के प्रदेश प्रवक्ता ओंकार सिंह ने कही। वे मंगलवार को पत्रकारों से मुखातिब थे। कहा कि भाजपा सत्ता में आने के पश्चात मूर्तियां बनवाने व शहर की खूबसूरती के नाम पर जनता की खून पसीने की कमाई के अरबों रुपये अनियोजित ढंग से बर्बाद करने का काम किया। जिसकी जितनी भी निदा की जाए वह कम है। कहा कि शहर की खूबसूरती जरूरी है लेकिन इससे पहले जनता को रोजगार व तरक्की के माध्यम विकसित करना जरूरी है। व्यक्ति के पास यदि आमदन के स्त्रोत निश्चित हो और खर्च ज्यादा तो पहले वो अपनी रोजी-रोटी, दवाई, कपड़ा व मकान की व्यवस्था करता है। मौजूदा सरकार उल्टी गंगा पहाड़ पर चढ़ रही है। जनता के पास मूलभूत सुविधाएं नहीं है और चौक चौराहों की खूबसूरती के नाम पर बेवकूफ बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

---------------

48 लाख में बना बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ चौक

ओंकार सिंह ने बताया कि आरटीआई के तहत नगर निगम से मिली जानकारी के अनुसार शहर के जगाधरी गेट, पुलिस लाइन चौक, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ चौक, अग्रसेन चौक, आर्य चौक सहित मात्र 13 चौको के सौन्दर्यकरण पर लगभग 3 करोड़ खर्च किये गए। अकेले बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ चौक पर 48,14,682 रुपये खर्च किए गए। जनधन का इतना दुरुपयोग व बर्बादी कभी नहीं देखी गयी। कहा कि इनेलो की सरकार बनने पर सभी चौक चौराहों की खूबसूरती के नाम पर खर्च जनधन की जांच की जाएगी।

Edited By: Jagran