जागरण संवाददाता, अंबाला : छावनी के केंद्रीय विद्यालय नंबर-2 में दसवीं कक्षा में पढ़ने वाला छात्रा दीपवंश शुक्रवार शाम को घर से कहीं लापता हो गया है। लेकिन जिला पुलिस और जीआरपी इस मामले में कार्रवाई के लिए क्षेत्र विवाद में उलझी रही और शनिवार को आखिरकार सदर थाने में लिखित शिकायत दी गई। बच्चा स्कूल में परीक्षा खत्म होने के बाद घर पहुंचा। खाना खाने के बाद दोस्तों के साथ खेलने के लिए गया और वापस घर पहुंचने के कुछ देर बाद उसका कोई पता नहीं चला। देर शाम तक भी जब वह वापस नहीं आया तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। देर रात बच्चे की साइकिल छावनी रेलवे स्टेशन पर पुल के नीचे खड़ी मिली। इसके बाद आरपीएफ की मदद से स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो आखिरी बार वह प्लेटफार्म नंबर-2 पर सीढि़यों से उतरता दिखाई दिया। इसके बाद उसका कोई पता नहीं चला।

बच्चे के पिता व सेनाकर्मी ने बताया कि उसकी ड्यूटी हिमाचल प्रदेश में है और उसका परिवार यहीं पानीपत लाइन के पास स्थित सेना क्वार्टर में ही रहता है। उनका बेटा दसवीं कक्षा में पढ़ता है और उसकी परीक्षाएं चल रही है। शुक्रवार को वह स्कूल में परीक्षा के बाद घर आया और करीब चार बजे के बाद से वह लापता हो गया। इसके बाद उसे रिश्तेदारों और उसके दोस्तों के यहां तलाश किया परंतु उसका कोई पता नहीं चला। वह रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो उसकी वहां साइकिल मिली। इसके बाद सीसीटीवी फुटेज देखी तो वह पहले एस्क्लेटर सीढि़यों पर चढ़ता और उतरता दिखाई दिया। इसके बाद वह टिकट काउंटर के पास और बाद में प्लेटफार्म नंबर-2 की सीढि़यों पर उतरता दिखाई दिया। लेकिन इसके बाद उसका कोई पता नहीं चला। उसके पास कोई मोबाइल फोन भी नहीं है। उन्होंने स्टेशन पर जीआरपी को सूचना दी तो जिला पुलिस चौकी में भेज दिया गया। जब बच्चे के परिजन पुलिस चौकी में पहुंचे तो साइकिल रेलवे स्टेशन पर मिलन के कारण पुलिस ने उन्हें जीआरपी में शिकायत देने के लिए कहा। ऐसे में शनिवार शाम को उन्होंने सदर थाने में शिकायत दी जिसके आधार पर गुमशुदगी का केस दर्ज किया गया।

Posted By: Jagran