संजू कुमार, अंबाला:

अंबाला में चरस तस्कर सक्रिय होने लगे हैं। नेपाल से बिहार के रास्ते तस्कर हरियाणा में चरस की तस्करी कर रहे है। दो महीने में करीब चार मामले सामने आए है। जिनमें बिहार से लाई गई चरस अंबाला में पकड़ी गई है। जीआरपी ने विभिन्न ट्रेनों से चरस बरामद की। छह दिन पहले तस्कर जीआरपी को देखकर ट्रेन में चरस छोड़कर भाग निकले थे। पुलिस ने चरस तो बरामद कर ली। लेकिन आरोपितों को पकड़ नहीं पाई। आरोपितों की तलाश में टीम भी गठित की है। जबकि सीआइए की टीम ने पहले भी बिहार से चरस तस्करों को गिरफ्तार कर चुकी है। जो हरियाणा में चरस तस्करी करते थे। अंबाला रेलवे स्टेशन पर बरती जा रही सतर्कता

चरस तस्करों को लेकर अंबाला रेलवे स्टेशन पर जीआरपी की पैनी नजर है। जीआरपी द्वारा सतर्कता बरती जा रही है। तस्करों को पकड़ने के लिए सीआइए और जीआरपी के जवान मुस्तैद है। चरस की तस्करी रोकने के लिए अभियान भी चलाया जा रहा है। साथ ही सरगना को पकड़ने के लिए बिहार के लिए टीम भी गठित की गई है। जीआरपी एसएचओ विलायती राम का कहना है कि चरस तस्करों को पकड़ने के लिए हमारी टीम सक्रिय है। कुछ दिन पहले हमने चरस भी बरामद की थी। बिहार से सीआइए की टीम पकड़ चुकी है चरस तस्करों को

करीब डेढ़ माह पहले हरियाणा में चरस की तस्करी करने वालों के खिलाफ सीआईए की टीम ने मोर्चा भी खोला था। टीम बनाकर बिहार भेजी गई थी। इसमें तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया गया था। नेपाल बॉर्डर बिहार से सटा हुआ है। नेपाल से चरस लाकर लोग हरियाणा में आसानी से तस्करी करते है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस