जागरण संवाददाता, अंबाला शहर: नगर निगम पुलिस बल के साथ बृहस्पतिवार को हाउस टैक्स बकायेदारों की संपत्ति सील करने की कार्रवाई शुरू की। सर्कुलर रोड पर इंपीरियल फ्लोर मिल सील करनी चाही तो मामला उलझ गया। हाउस टैक्स की एक संपत्ति की दो आईडी होने से मामला उलझ गया। इस वजह से शाम छह बजे तक भी संपत्ति सीलिग की कार्रवाई नहीं हो सकी।

नगर ने हाउस टैक्स के बड़े बकायेदारों पर सीलिग की कार्रवाई शुरू कर दी है। निगम के हाउस टैक्स बकायेदारों ने नोटिस के बाद भी टैक्स जमा नहीं किया है। बृहस्पतिवार को निगम को करीब दस संपत्ति पर सीलिग की कार्रवाई करनी थी। निगम अमला पुलिस बल के साथ दोपहर एक बजे सर्कुलर रोड स्थित इंपीरियल फ्लोर मील को सील करने पहुंच गया। इस पर छह लाख 19 हजार 600 रुपये का हाउस टैक्स का बकाया है। संपत्ति मालिक एचके गर्ग ने इतना बकाया होने से मना कर दिया। इस पर निगम ने संपत्ति सील करने की कार्रवाई की बात कही। जबकि संपत्ति मालिक ने कहा कि मैंने हाउस टैक्स जमा करा दिया है। इस साल का भी जमा करा दिया जाएगा। बताया कि जिस आइडी पर हाउस टैक्स लगा है वह आइडी उसकी संपत्ति की नहीं है। निगम कर्मियों ने एक संपत्ति की दो आइडी होने से मना किया, और पूरा टैक्स जमा करने का जोर दिया। संपत्ति मालिक ने पूरा हाउस टैक्स जमा करने से मना दिया। मालिक ने कहा कि मेरी संपत्ति 20 हजार 700 वर्ग मीटर है, इसकी आइडी भी अलग है। इसलिए आप मेरी संपत्ति पर हाउस टैक्स लगाया जाए। संपत्ति मालिक और निगम कर्मियों के बीच नोंकझोक हो गई। इसके बाद निगम कर्मियों ने जमीन की पैमाइश शुरू की। मालिक से फीता लेने के बाद जमीन की पैमाइश की गई। शाम में ढाई लाख रुपये जमा करने के बाद सीलिग की कार्रवाई नहीं हो सकी। इसके बाद निगम टीम गोशाला पहुंची। गौशाला के साथ कॉमर्शियल प्रयोग के लिए दुकानें बनी है। इन पर करीब 29 लाख रुपये का हाउस टैक्स बकाया है। इनको एक सप्ताह में हाउस टैक्स जमा करने का नोटिस दिया है। इसके बाद सीलिग की कार्रवाई की जाएगी। ये हैं आइडी

नगर निगम ने इंपीरियल फ्लोर मील की आइडी 128सी57यू645 पर 619637 रुपये बकाया है, जो देना है। जबकि संपत्ति मालिक ने इसको अपनी आइडी होने से मना कर दिया। संपत्ति मालिक ने128सी57यू645पी होने की रसीद भी दिखाई। संपत्ति मालिक ने इस पर हाउस टैक्स जमा करने की बात कही।

-----------

नगर निगम ने संपत्ति मालिक को दो से तीन बार नोटिस दिया। इसके बाद भी कोई जवाब नहीं दिया। वहीं सीलिग के दौरान दिखाने वाली आइडी भी गलत है। मौके पर निगम ने करीब ढाई लाख रुपये हाउस टैक्स के जमा कराए हैं।

रोहताश विश्नोई, एडिशनल कमिश्नर, नगर निगम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस