जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : एसई कार्यालय में अधिकारियों ने उपभोक्ताओं की बिजली की समस्याओं को सुना। इसमें बिजली बिलों में गड़बड़ी और औसत का बिजली बिल की समस्या ज्यादा आई। इसमें कुछ बिजली बिलों की गड़बड़ी की शिकायतों का निस्तारण कर दिया गया। मौके पर समाधान नहीं होने वाली 18 उपभोक्ताओं की शिकायतों को जमा कर लिया है। साथ ही संबंधित अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है।

एसई कार्यालय में बुधवार सुबह 11 बजे से उपभोक्ता निस्तारण समिति के चेयरमैन दीपक जैन ने उपभोक्ताओं की समस्या सुनने काम शुरू किया। सुबह से लोग अपनी समस्या लेकर पहुंचने लगे थे। इसमें ज्यादातर लोगों की बिजली बिलों में गड़बड़ी, औसत का बिल समेत अन्य शिकायतें रहीं। उपभोक्ताओं का कहना था कि बिजली निगम में शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका।

फोटो संख्या 26

सवा साल पहले मेरा बिजली मीटर खराब हो गया था। मैंने मीटर बदलने के लिए आवेदन किया। इसके बिजली निगम ने मीटर बदल दिया। घर में दो मीटर लगे थे। उसमें मेरी मां के घर का मीटर खराब था। इस दौरान मीटर बदलने के बाद मेरे नाम पर मीटर चढ़ा दिया। इसमें चार महीने तक बिजली का बिल जमा किया। इसके बाद एक लाख 53 हजार रुपये का बिल भेज दिया। इसको सही करने के लिए चार महीने से भटक रहा हूं।

विपुल, काजीवाड़ा, शहर। बिजली निगम ने मुझे 26 हजार रुपये का बिल भेज दिया है। मै इतने पैसे देने में सक्षम नहीं हूं। मेरा पीजीआइ चड़ीगढ़ में इलाज चल रहा है। अधिकारियों ने बताया कि आपके घर में बिजली चोरी पकड़ी गई थी। इसके बाद वे कोर्ट में चले गए। आपको अपने वकील से कोर्ट में केस वापस लेना था, जो नहीं लिया।

सुशील वर्मा, उपभोक्ता फोटो संख्या 27

मेरा फार्म के नाम से बिजली का कनेक्शन हैं। इसमें तीन साल से बिजली निगम औसत का बिल भेज रहा था। इसके लिए बिजली निगम में शिकायत भी की गई। इसके बाद भी मीटर रीडर से रीडिग का बिल नहीं भेजा गया है। अब विभाग ने साढ़े छह लाख रुपये का बिजली बिल भेज दिया।

मनोज कुमार, अंबाला शहर।

--------

फोटो संख्या 28

मेरा बिजली का बिल 44 हजार रुपये का आया है, जबकि मीटर में इतनी रीडिग भी नहीं है। बिजली बिल सही करने के लिए चक्कर लगा रहा हूं। इसके बाद भी बिल को सही नहीं किया।

मंगा राम, अंबाला शहर

-----------

फोटो संख्या 29

बिजली मीटर का डिस्पले खराब हो गया था। इसके लिए बिजली निगम में शिकायत भी की गई। तब से बिजली निगम औसत का बिजली बिल भेज रहा है। इसके बाद भी रीडिग का बिल नहीं भेजा। दिसंबर में 35 हजार रुपये का बिजली बिल भेज दिया।

सुखचैन, दुर्गा नगर।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस