संवाद सहयोगी, बराड़ा: खंड के डिपो होल्डरों को राशन बांटने का कमीशन नहीं मिल पा रही है। कमीशन पाने के लिए डिपो होल्डर विभाग के दफ्तरों के चक्कर काट-काटकर थक चुके हैं, लेकिन अधिकारी कोई सही जवाब नहीं देते। जिस कारण डिपो होल्डरों में इस बात को लेकर खासी नाराजगी है। वहीं कमीशन की कमी के कारण कई डिपो होल्डर डिपो तक छोड़ने की बात कह चुके हैं। डिपो होल्डरों की माने तो वर्ष 2016 के अक्तूबर से लेकर वर्ष 2018 के फरवरी महीने तक उनको विभाग की ओर से गेहूं बांटे जाने की कमीशन का भुगतान अब तक भी नहीं किया गया है। वर्ष 2017 में तो डिपो होल्डरों को गेहूं बांटते-बांटते पूरा साल का समय बीत गया, लेकिन उनको कमीशन की पेमेंट नहीं मिली। विभाग भी पूरा साल सोता रहा। अब फोटिफाइड योजना के तहत आटा दिया जा रहा है। पूरे ब्लॉक में 57 डिपो होल्डरों को इस परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर डिपो होल्डरों को सरसों तेल बेचने की कोई कमीशन नहीं मिलती। इसी प्रकार से पिछले साल की बाजरा बांटने की कमीशन भी नहीं मिल पाया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप