अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। BRTS Bus. केंद्र सरकार के नए यातायात कानून को लेकर कई तर्क-वितर्क हो रहे हैं, लेकिन अहमदाबाद महानगर पालिका ने बीआरटीएस बस चालकों की ओवरस्‍पीड पर अंकुश लगाने के लिए ड्राइवर पर एक लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया है।

अहमदाबाद में बीते सप्‍ताह बीआरटीएस बस की टक्‍कर से दो भाइयों की मौत के बाद हुए हंगामे के चलते राज्‍य के गृह राज्‍यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा, महापौर बीजल पटेल व मनपा आयुक्‍त विजय नेहरा ने बीआरटीएस रूट का अवलोकन किया तथा सुरक्षा कारणों को ध्‍यान में रखते हुए दिशानिर्देश जारी किए। आइएएस नेहरा ने बताया कि अहमदाबाद की रोड के दो फीसद क्षेत्र में बीआरटीएस रूट बना है, जिसमें बीआरटीएस की 255 बसें, अहमदाबाद महानगर ट्रांसपोर्ट सर्विस की 325 तथा स्‍टेट ट्रांसपोर्ट की 15 बसें गुजरती हैं। बीआरटीएस रूट पर हर साल औसतन सवा तीन सौ दुर्घटनाएं होती हैं। इस साल अब तक 319 दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, जिसमें नौ लोगों की जान गई है।

सरकार व महानगर पालिका ने दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए कई दिशा निर्देश जारी किए हैं, जिसमें तेज गति से बस चलाने वाले ड्राइवर पर एक लाख रुपये का जुर्माना, बीआरटीएस रूट में निजी वाहन चलाने वाले दो पहिया व तिपहिया वाहन चालक पर 1500 रुपये तथा कार व निजी बस पर 3000 रुपये का जुर्माना वसूला जाएगा। मनपा ने बीआरटीएस बस ड्राइवर की आंखों की व मेडिकल जांच को भी अनिवार्य किया है। मनपा ने बीआरटीएस रूट के कई प्रवेश स्‍थल पर आरएफआइडी बैरियर लगाने का भी निर्णय लिया है, जो बस के आते व जाते समय अपने आप खुल जाएंगे व बंद होंगे।  

सूत्रों के मुताबिक, जुर्माने के डर से बीआरटीएस बस चालक, दोपहिया व तिपहिया चालक तेज गति से अपने वाहन नहीं चलाएंगे। जिससे प्रदेश में हादसों में कमी आ सकती है। आंखों की मेडिकल जांच से भी हादसों में कमी आने की संभावना है।

यह भी पढ़ेंः बीरआटीएस ट्रैक पर निजी वाहन चलाने पर होगी गिरफ्तारी

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस