अहमदाबाद, प्रेट्र। मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन का टिकट करीब तीन हजार रुपये का होगा। इस हाई स्पीड कॉरिडोर के लिए कुल 1,380 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया जाना है, जिसमें 622 हेक्टेयर का हो चुका है।

नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरिडोर (एनएचएसआरसीएल) के प्रबंध निदेशक अचल खरे इस परियोजना को मूर्त रूप दे रहे हैं। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, 'हमें गुजरात व महाराष्ट्र में कुल 1,380 हेक्टेयर भूमि की जरूरत है। इनमें निजी, सरकारी और वन भूमि शामिल हैं। अब तक हम 45 फीसद भूमि का अधिग्रहण कर चुके हैं। हम परियोजना को दिसंबर 2023 तक पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।'

मार्च से शुरू हो सकता है मार्ग का निर्माण कार्य

खरे ने बताया कि बुलेट ट्रेन मार्ग का निर्माण कार्य मार्च 2020 से शुरू होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा, 'हमने पूरी परियोजना को 27 पैकेजों में बांटा है। इनमें वापी और वड़ोदरा के बीच 237 किलोमीटर लंबा पुल और वड़ोदरा से अहमदाबाद के बीच 87 किलोमीटर लंबा का एक अन्य पैकेज शामिल है। चार बड़े पैकेजों के लिए निविदाएं हो चुकी हैं। इनमें महाराष्ट्र में समुद्र के नीचे सुरंग बनाने का काम भी शामिल है।'

किसानों को जमीन देने पर नहीं, उसकी कीमत पर आपत्ति 

परियोजना को लेकर किसानों के विरोध के सवाल पर खरे ने कहा कि उन्हें जमीन देने पर कोई आपत्ति नहीं है। हम गुजरात के कुल 5,300 निजी प्लॉटों में से 2,600 का अधिग्रहण कर चुके हैं। हालांकि, वहां के सर्किल रेट वर्ष 2011 के बाद बदले ही नहीं हैं। इसलिए, किसान चाहते हैं कि नये सिरे से सर्किल रेट तय किए जाने के बाद ही जमीन का अधिग्रहण हो। 198 कुल गांवों में से सिर्फ 15 में ही विरोध रह गया है। खरे ने आश्वस्त किया कि इसके कारण से परियोजना में कोई विलंब नहीं होगा।

4,000 बड़े पेड़ों को किया गया दूसरी जग प्रत्यारोपित

एनएचएसआरसीएल के बयान के अनुसार, परियोजना में बड़े पेड़ों को सुरक्षित रखने पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। विशेष वाहन के जरिये उन्हें एक जगह से उखाड़कर दूसरी जगह प्रत्यारोपित किया जा रहा है। अब तक करीब 4,000 बड़े पेड़ों को दूसरी जगह प्रत्यारोपित किया जा चुका है।

बुलेट ट्रेन लगाएगी रोजाना 70 फेरे

एनएचएसआरसीएल के एमडी अचल खरे ने बताया कि काम पूरा होने के बाद मुंबई से अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन सुबह छह बजे से रात 12 बजे तक दोनों तरफ से 35-35 यानी कुल 70 फेरे लगाएगी। इसका किराया करीब 3000 हजार रुपये होगा। 508 किलोमीटर लंबे इस मार्ग पर कुल 12 स्टेशन होंगे। अहमदाबाद के मौजूदा रेलवे स्टेशन पर ही बुलेट ट्रेन स्टेशन का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। यह स्टेशन के पूर्वी क्षेत्र में 10, 11 व 12 नंबर प्लेटफॉर्म के ऊपर बनेगा।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

-----------

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस