अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात में जाते-जाते बारिश ने एक बार फिर रौद्र स्वरुप धारण कर लिया है। दक्षिण गुजरात, सौराष्ट्र व मध्य गुजरात में गुरुवार रात से मूशलाधार अब तक बारिश जारी है। अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा में भारी बारिश होने से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। भारी बारिश के कारण सड़क व रेलयात्रा पर भी प्रभाव पड़ा है।

गुजरात में पिछले महीने हुई भारी बारिश से लोगों को काफी परेशानी की सामना करना पड़ा था। सूरत, वलसाड़, वडोदरा, अहमदाबाद में भारी बारिश से बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई थी। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमों द्वारा हजारों लोगों को बचाया गया। वडोदरा में विश्वामित्री नदी में बाढ़ के कारण जगह-जगह पर मगरमच्छ भी दिखने मिले थे। एक बार फिर जाते-जाते मानसून गुजरात की ओर मुड़ गया है।

मौसम विभाग ने बताया कि गुजरात में इस साल 120 फीसद से भी अधिक बारिश हो चुकी है। प्रदेश के अधिकांश डैम लबालब हो गए हैं। अरब सागर में पैदा हुए कम दबाव के चलते गुजरात में अगले तीन दिनों तक तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना है। इस सिस्टम के चलते बुधवार से गुजरात में मौसम ने करवट ली है। गुरुवार को प्रदेश के अधिकांश शहरों में भारी बारिश हुई है।

अहमदाबाद में बाढ़ की स्थिति

अहमदाबाद में देर रात से शुरु हुई मूशलाधार बारिश शुक्रवार को भी जारी है। शहर के तमाम अंडर पास बंद कर दिए गए हैं। बापूनगर, खोखरा, रामोल, नारोल में भारी बारिश के कारण लोगों के घरों में दो-दो फुट तक पानी भर गया है। अहमदाबाद के पश्चिम क्षेत्र में अखबार नगर में बारिश के कारण अंडर पास बंद कर देने से वाहन चालकों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। शाहीबाग अंडर पास में पानी भर जाने से उसे बंद कर दिया गया है।

अहमदाबाद के पश्चिम क्षेत्र राणिप, न्यू राणिप , अंबावाड़ी, घाटलोडिया, गोता, पंचवटी, एसजी हाईवे पर भारी बारिश के कारण पानी भर गया है। वहीं पूर्व जोन में वटवा, नारोल, अमराईवाड़ी, बापूनगर, सरदारनगर, कुबेनगर, नरोड़-पाटिया क्षेत्र में भारी बारिश के कारण लोगों के घरों में पानी घुस गया है।  

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप