अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात के अहमदाबाद शहर में जलजनित रोगों से जनता परेशान है। सिविल अस्पताल के डॉक्टर और नर्स सहित कुल 60 लोग डेंगू की बीमारी से ग्रस्त हैं। इस बीमारी से कुल पांच लोगों की मौत भी हो चुकी हैं। इस प्रकार मलेरिया और डेंगू के कुल 1800 मरीज पाए गए हैं। इस महीने के तीन सप्ताह में मनपा संचालित और सरकारी अस्पतालों में बुखार के 79000 मरीज चिकित्सा के लिए आए। इस दौरान डेंगू के लक्षण वाले 2361 मरीजों का ब्लड जांच के लिए भेजा गया है। सरकारी अस्पताल व मनपा के 74 अर्बन हेल्थ सेंटर द्वारा चिकित्सा सेवा उपलब्ध करवाई जा रही हैं।

अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में डॉक्टर और नर्स सहित कुल 60 कर्मचारी डेंगू की बीमारी से ग्रस्त हैं। इस अस्पताल को स्वास्थ्य विभाग ने मच्छरों की ब्रीडिंग रोकने के लिए तीन बार नोटिस जारी किए हैं। इस अस्पताल में गत 24 घंटे में डेंगू के 10 सहित तीन सप्ताह में 416 मरीज चिकित्सा के लिए ओपीडी में आए। वहीं, टाइफाइट के 531 और मलेरिया के 447 मरीज चिकित्सा के लिए आए। शहर के नए पश्चिम जोन चांदखेडा और गोता में डेंगू के सर्वाधिक मरीज चिकित्सा के लिए आए।

इस दौरान सिविल हॉस्पिटल, सोला सिविल हॉस्पिटल, मनपा संचालित वीएस अस्पताल, शारदाबेन अस्पताल, एलजी में ओपीडी में चिकित्सा के लिए आने वाले मरीजों की संख्या में तकरीबन 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस महीने के तीन सप्ताह में बुखार की चिकित्सा के लिए आने वाले मरीजों की संख्या 81361 तक पहुंच गई है।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस