मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अहमदाबाद, प्रेट्र। अनुच्छेद 370 समाप्त करने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बीच दो हिंदू जोड़े इस हफ्ते के शुरू में कराची से गुजरात आए। शनिवार को इन जोड़ों ने शादी रचाई। राजकोट माहेश्वरी समाज ने राजकोट में ये शादियां कराई। दोनों ही युगल माहेश्वरी समाज के हैं।

राजकोट माहेश्वरी समाज के युवा अध्यक्ष भवेश माहेश्वरी ने बताया कि इस संगठन ने पाकिस्तान के 90 से अधिक जोड़ों की शादी कराने और भारत में बसने में मदद की, जिनमें से ज्यादातर कराची के थे।

भवेश माहेश्वरी ने बताया कि शनिवार को जिन युगलों ने शादी रचाई, उनकी योजना भारत में ठहरने की है। उन्होंने कहा, 'हमारे समुदाय के लोग को उस देश में काफी परेशान किया गया। हिंदुओं को पाकिस्तान में रहना कठिन लगता है। वे पैसे तो कमाते हैं लेकिन उनकी जिंदगी हमेशा जोखिम में है। पाकिस्तान में उनकी शादियां बहुत सामान्य ढंग से होती हैं। हम यहां बड़े धूमधाम से शादियां कराते हैं जैसी होनी चाहिए।'

उन्होंने कहा कि करीब 3000 माहेश्वरी परिवार कराची में रहते हैं। उन्होंने कहा, 'उनमें से ज्यादातर भारत के लिए दीर्घकालिक वीजा हासिल करते हैं और यहां रहने के लिए उसका नवीकरण कराते रहते हैं।'

कराची से आए दुल्हे अनिल माहेश्वरी ने कहा कि विभाजन के दौरान पाकिस्तान में रह गए उनके समुदाय के ढेर सारे लोग भारत में बसना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह अनुच्छेद 370 खत्म करने के भारत सरकार के फैसले का समर्थन करते हैं।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप