सूरत, जेएनएन। Gangwar in Surat. गुजरात के सूरत में एक बार फिर गैंगवार की घटना हुई है। पांच दिन पहले ही जेल से बाहर आए कुख्यात सूर्या मराठी और डॉन हार्दिक पटेल की मौत हो गई। घटना के बाद पूरे इलाके में पुलिस का कड़ा बंदोबस्त तैनात है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कुल सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

मूल महाराष्ट्र के रत्नागिरी निवासी सुरेश श्रीराम भाई पवार उर्फ सूर्या मराठी सूरत का कुख्यात डॉन है। उस पर हत्या, लूट और फिरौती सहित कई मामले दर्ज हैं। पांच दिन पहले ही सूर्या मराठी मनु डाहा हत्या मामले में निर्दोष छूटकर आया था।

सूरत पुलिस आयुक्त आरबी ब्रह्मभट्ट ने बताया कि यह हत्याकांड सूर्या मराठी की वेडरोड स्थित ऑफिस पर हुआ। बुधवार सुबह हार्दिक पटेल और उसके सात साथी सूर्या मराठी के ऑफिस में तलवार और चाकू लेकर घुस गए और उस पर हमला कर दिया। इस घटना में सूर्या मराठी पर हमला करने वाले हार्दिक पटेल की भी मौत हो गई है।

कतारगाम पुलिस ने बताया कि सूर्या मराठी के शरीर पर चाकू से 30 से ज्यादा वार किए गए। हैरान कर देने वाली बात यह है कि सूर्या मराठी की हत्या करने के लिए आए हार्दिक पटेल पर भी 10 से ज्यादा वार किए गए हैं। दोनों की उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि आरोपित ऑफिस में दाखिल हुए उस समय सूर्या मराठी गैंग के सदस्य बाहर बैठे हुए थे। लेकिन किसी को भी कुछ पता नहीं चला। सभी आरोपित सीसीटीवी फुटेज में सड़क पर भागते हुए दिखाई दे रहे हैं। पुलिस का मानना है कि सूर्या मराठी की हत्या करने से पहले आरोपियों ने उस स्थान की रैकी की है। पूरा प्लान बनाकर हत्या को अंजाम दिया गया है। पुलिस द्वारा नाकाबंधी कर आरोपितों की तलाश की जा रही है।

डॉन वसीम बिल्ला की गोलीमार हुई थी हत्या 

पिछले महीने 22 जनवरी को सूरत के कुख्यात डॉन वसीम बिल्ला की अज्ञात लोगों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। वसीम बिल्ला पर सूरत में कई मामले दर्ज थे। गुजरात हाईकोर्ट ने उसे तड़ीपार कर दिया था। वह नवसारी में रह रहा था। वसीम को एक्टिंग का बहुत शौक था। उसने अच्छी खासी बॉडी बनाई थी, वह कई टीवी सीरियलों भी सह कलाकार काम कर चुका था।  

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस