अहमदाबाद, जेएनएन। लव जिहाद, अपहरण व दुष्‍कर्म की शिकार युवती के आत्महत्या के मामले में आरोपित के वकील को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वकील की धमकी के बाद ही पीड़िता ने आत्‍महत्‍या कर ली थी। इस मामले में आरोपित जमील व उसकी 65 वर्षीय माता असमाबेन छह दिन के रिमांड पर पहले ही भेजे जा चुके हैं। राजकोट के गांधीग्रामपुलिस थाना इलाके में रहने वाले पीड़िता के पिता सिलाई का काम करते हैं।

पुलिस शिकायत में उन्‍होंने बताया कि उनकी 21 वर्षीय पुत्री को प्रेमजाल में फंसाकर उसका अपहरण कर उसके बाद कई बार दुष्‍कर्म किया। इसका पता चलने पर पीड़िता के पिता व परिजन लाखाजी रोड पर स्थित जमील के घर शिकायत करने गए तो उसकी मां असमा बेन व अन्‍यों ने पीड़िता के पिता व अन्‍यों के साथ दुर्व्‍यवहार किया। मई, 2019 में पीड़िता की सगाई कर दी तो भी जमील उसका पीछा करता और उसके भाई की हत्‍या व उसे बदनाम करने की धमकी देकर उसके साथ संबंध बनाने का दबाव बनाने लगा। इसी तनाव में पीड़िता ने गत दो सितंबर को घर में आत्महत्या कर ली।

राजकोट पुलिस आयुक्‍त के नाम लिखे सुसाइड नोट में पीड़िता ने इसके लिए जमील, उसके परिजन तथा वकील दिव्‍येश मेहता को जिम्‍मेदार बताया है, जिसके आधार पर पुलिस ने जमील व उसकी माता को पहले ही गिरफ्तार कर लिया, अब उसके वकील दिव्‍यश मेहता को भी पुलिस ने पकड़ लिया है। वकील ने पीड़िता को धमकाते हुए कहा था कि जमील व उसकी माता के पक्ष में बयान नहीं दिए तो उसे झूठे मामले में फंसाकर 10 साल तक की सजा करा देगा।

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप