राज्य ब्यूरो, अहमदाबाद। गुजरात में छह सीट पर हो रहे उपचुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के मैदान में आ जाने से सभी सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला होगा। कांग्रेस ने राकांपा के साथ गठबंधन से साफ इन्कार कर दिया था। उधर, भाजपा में टिकट केसबसे बडे़ दावेदार माने जा रहे पूर्व मंत्री शंकर भाई चौधरी को रेस से बाहर हो गए हैं।

गौरतलब है कि अहमदाबाद की अमराईवाडी, साबरकांठा की बायड, पाटण की राधनपुर, महीसागर की लूनावाडा, मेहसाणा की खेरालू, बनासकांठा की थराद विधानसभा सीट पर आगामी 21 अक्टूबर को उपचुनाव होंगे।

गुजरात उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस और राकांपा ने सभी छह सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं, जिससे मुकाबला रोचक हो गया है। राधनपुर और बायड कांग्रेस की नाक की लड़ाई है। इन दोनों सीटों पर पहले अल्पेश ठाकोर और धवल सिंह झाला ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन बाद में वे इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा ने इन दोनों को इन्हीं सीट से प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेस इन दो सीट पर खास रणनीति पर काम कर रही है, राधनपुर सीट पर कांग्रेस ने रघु देसाई को मैदान में उताकर कर ठाकोर जाति के खिलाफ अन्य जातियों को लामबद्ध करने का प्रयास किया है।

उधर, बायड में झाला के खिलाफ पटेल को टिकट देकर मुकाबले को रोचक बना दिया है। उधर, राकांपा के गुजरात अध्यक्ष शंकरसिंह वाघेला ने बताया कि पार्टी सभी छह सीटों पर चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस को गठबंधन में रुचि नहीं है, इसलिए हमने सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं। वाघेला के पुत्र महेंद्र सिंह के बायड से चुनाव लड़ने की चर्चाएं थीं, लेकिन ऐन मौके पर वह पीछे हट गए।

चुनाव की गहमागहमी के बीच अब देखना है कि गुजरात की छह सीटों पर किसकी जीत होती है। इस बार उपचुनाव में मुकाबला रोचक होने के आसार हैं।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस