अहमदाबाद, जेएनएन। स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए गुजरात का शिक्षा विभाग ने डिजिटल इंडिया के माध्यम से एक नायाब तरीका निकाला है। राज्य के 1200 विद्यालयों को अनलिमिटेड इंटरनेट सुविधा दी जाएगी, ताकि बच्चे विषय से संबंधित जानकारी कंप्यूटर के जरिए भी हासिल कर सकें।

गुजरात सरकार जहां शहरी इलाकों के विद्यालयों को गुगल स्मार्ट विद्यालय बना रही है, वहीं राजधानी से दूर स्थित करीब एक हजार स्कूसल को भी स्मार्ट बनाएगी। इसके तहत स्कूरलों को अनलिमिटेड इंटरनेट सेवा प्रदान की जाएगी, ताकि छात्र-छात्राएं मल्टीमीडिया सिस्टम के जरिए अपने विषय व अन्य सामान्य जानकारी की सामग्री ऑनलाइन हासिल कर सकें। अहमदाबाद के करीब 150 स्कूलों को भी इसमें शामिल किया गया है। सरकार इन इलाकों में नोडल अधिकारी भी नियुक्त करेगी, जो इस प्रोजेक्टर को मॉनीटर करेंगे।

विभाग के एक आला अधिकारी ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में जहां शिक्षकों की कमी है, वहां यह योजना काफी कारगर साबित होगी। बच्चों को ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल उपलब्धी होगा तो वे खुद भी विषय संबंधित जानकारी हासिल कर सकेंगे। उनके मुताबिक, शुरुआत में जब स्कूलों में कंप्यूटर दिए गए, तब शिक्षकों को भी कंप्यूटर चलाना नहीं आता था। इस कारण कंप्यूटर्स बिना उपयोग के पड़े रहते थे, लेकिन स्मार्ट फोन आ जाने से अब अधिकांश शिक्षक और बच्चे भी कंप्यूटर फ्रेंडली हो गए हैं।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस