अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात में विधानसभा उपचुनाव 2019 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व विधायक अल्‍पेश ठाकोर व पूर्व विधायक धवल सिंह झाला की उम्‍मीदवारी रद करने की मांग को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करने वाले याचिकाकर्ता व उनका वकील आपस में ही उलझ गए हैं। दोनों एक-दूसरे पर विरोधियों से मिलकर दगाबाजी करने का आरोप लगा रहे हैं।

मोरबी निवासी याचिकाकर्ता सुरेश सिंगल ने अल्‍पेश व धवल के खिलाफ हाईकोर्ट में इस आधार पर याचिका दाखिल की थी कि दोनों पहले कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीत चुके हैं तथा अपने स्‍वार्थ के चलते पार्टी बदलकर अब भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। चुनाव के दौरान उन्‍होंने जनता व समाज से कई वादे किए थे, लेकिन उन्‍हें पूरे नहीं किए।

सिंगल ने अपने वकील धर्मेश गुर्जर पर भाजपा के बड़े नेताओं के साथ मिलकर धोखेबाजी करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को फिनायल पीकर जान देने का प्रयास किया। उसका आरोप है कि वकील ने पहले किसी भी कीमत पर यह केस लड़ने का भरोसा दिया, लेकिन अब वह खुद ही अल्‍पेश ठाकोर से मिल गया।

उधर, वकील धर्मेश गुर्जर का कहना है कि सुरेश सिंगलने केस से पहले उसे बताया था कि वह ठाकोर सेना का पदाधिकारी है, उसके पास ठाकोर सेना का कार्ड है तथा अल्‍पेश के साथ खिंचाई गई फोटो भी है। वकील ने केस पेपर तैयार करने के लिए इन सबकी कॉपी मांगी तो आज तक भी उसने नहीं दी। वकील का कहना है कि सुरेश सिंगल विपक्ष के नेताओं के इशारे पर काम कर रहा है। उसने यह भी कहा कि सुरेश ने जो फीस उसे दी, उस सभी की रसीदें उसको दी है।

गौरतलब है कि दो दिन पहले वकील धर्मेश ने यह कहा था कि अल्‍पेश व भाजपा की ओर से उसे केस से हटने केे लिए 11 करोड़ रुपये तक का ऑफर दिया गया था। धर्मेश का यह भी दावा था कि वह हर हाल में यह केस लड़ेगा और जरूरत पडी तो सुप्रीम कोर्ट तक भी जाने को तैयार है, लेकिन अब एक दिन बाद ही उसके केस से हटने की बात से इस मामले में नया मोड़ आ गया है।

गौरतलब है कि अल्‍पेश ठाकोर व धवल सिंह झाला भाजपा के टिकट पर राधनपुर व बायड से उपचुनाव लड़ रहे हैं। यह दोनों पहले इन्‍हीं दोनों सीट पर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीत चुके थे, लेकिन बाद में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। उनके इस्‍तीफा देने के कारण ही इन सीटों पर उपचुनाव कराया जा रहा है। गुजरात में छह सीट पर आगामी 21 अक्‍टूबर को मतदान होगा। 

यह भी पढ़ेंः गुजरात में सतह पर आई भाजपा और कांग्रेस नेताओं की नाराजगी

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस