सूरत, वांसदा। नवसारी जिले के चापलधारा गांव में रविवार को गणपति विसर्जन के दौरान नदी में गाय का कटा हुआ सिर मिलने से तनाव फैल गया। शाम को लोगों ने इलाके में स्थित तीन दुकानों में तोडफ़ोड़ कर उसे आग के हवाले कर दिया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज और आंसूगैस के गोले भी छोडऩे पड़े। इसके साथ ही पुलिस ने 15 उपद्रवियों को भी हिरासत में लिया।

चापलधारा गांव की सीमा से बहने वाली कावेरी नदी में रविवार को 200 से अधिक गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाना था। लेकिन शाम को ही नदी में गाय का कटा सिर तैरता दिखा तो माहौल तनावपूर्ण हो गया। नदी किनारे झाडिय़ों में गाय के शरीर के अन्य शव भी पड़े थे। इसके चलते नदी में विसर्जन रोक दिया गया और भीड़ आरोपियों को पकडऩे की मांग कर प्रदर्शन करने लगी। पुलिस ने नदी से गाय का सिर निकलवाया और झाडिय़ों में पड़े अन्य अवशेषों को एकत्रित कर मामला दर्ज किया।

मौके पर पहुंचे धार्मिक गुरुओं के कहने पर नदी की विपरीत दिशा में गणेश प्रतिमाओं का तो विसर्जन कर दिया गया, लेकिन तनाव खत्म नहीं किया जा सका। देर रात भीड़ ने इलाके में स्थित कसाईयों की दुकान पर धावा बोल दिया। दुकान में जमकर तोडफ़ोड़ के बाद उनमें आग लगा दी गई। मौके पर भारी पुलिस बल बुलाया गया। पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसूगैस के गोले छोड़कर स्थिति को नियंत्रित किया। इसके बाद पूरे इलाके में सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया। हालांकि अब स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस गाय का कत्ल करने वाले आरोपियों को तलाश कर रही है।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस