अहमदाबाद, जेएनएन। रोटी, कपड़ा और मकान के साथ ही व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधा भी जरूरी है। यह व्यक्ति की प्राथमिक आवश्यकता है। गुजरात के शहरी क्षेत्रों में तो जैसे-तैसे स्वास्थ्य की सुविधा उपलब्ध है। किन्तु ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टरों के अभाव में यह वेटिलेंटर पर है। राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में 7832 डॉक्टरों की कमी है। वहीं, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में 1334 स्पेशलिस्ट डॉक्टरों का अभाव है। यूं पूरे देश के ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 65,467 चिकित्सकों की कमी है। राज्य के 1490 एमबीबीएस डॉक्टरों ने ग्रामीँण क्षेत्रों में जाने से इनकार कर बॉन्ड के 21 करोड़ रुपये अदा कर दिए हैं।

राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टरों के अभाव के कारण स्वास्थ्य सुविधा का स्तर जहां गिरा है। वहीं ऑबेस्ट्रिक्स, गायनेक, फिजिशियन व पीडियाट्रिशियन जैसे विशेषज्ञों के मामले में हालात बदतर हैं। राज्य के कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में 1452 स्पेश्यालिस्ट की जरूरत है, परन्तु सरकार ने 1177 पद ही स्वीकृति किए हैं। वर्तमान समय में केवल 118 विशेषज्ञ चिकित्सक कार्यरत हैं। इस प्रकार 1334 विशेषज्ञ चिकित्सकों की ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों  में जरूरत हैं। लोकसभा में प्रश्नों के उत्तर में यह जानकारी मुहैया करवाई गई है।

स्वास्थ्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बताया कि उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु के बाद इस बारे में गुजरात तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों सहित सभी को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवाना सरकार की जिम्मेदारी है। यह राज्य सरकार की नीतियों पर आधारित है कि वह ग्रामीण क्षेत्रों में कितने डॉक्टरों की नियुक्ति करती है।

राज्य के कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर में एलोपैथिक में जनरल मेडिकल ऑफिसर के मामले में हालात चिंताजनक हैं। इसमें 31 मार्च, 2018 तक 1151 डॉक्टरों की नियुक्ति के आदेश के बाद भी केवल 792 डॉक्टर ही कार्यरत हैं। इस प्रकार इसमें भी 359 डॉक्टरों का अभाव है। वहीं, देश में इस तरह के 2510 डॉक्टरों की कमी है। गुजरात के जिला अस्पतालों में इस प्रकार के 518 डॉक्टरों की जरूरत होने पर केवल 318 डॉक्टर ही कार्यरत हैं। वहीं, तहसील स्तर के अस्पतालों के हालात भी इसी तरह है। यहां 435 डॉक्टरों की जरूरत पर केवल 163 ही कार्यरत हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधा में गुजरात के हालात नाजुक हैं। गुजरात में पंजीकृत डॉक्टरों की संख्या 5.77 फीसद है। देश में सर्वाधिक 14.96 फीसद डॉक्टर महाराष्ट्र में पंजीकृत हैं। इसमें गुजरात सातवें स्थान पर हैं।  

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप