अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। Vijay Rupani: गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि कांग्रेस जातिवाद की राजनीति करती है। गुजरात में उपचुनाव के बाद कांग्रेस देश में फिर टूटेगी। रूपाणी सोमवार को दक्षिण गुजरात में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। वलसाड जिले की कपराडा सीट पर भाजपा के प्रत्‍याशी जीतू चौधरी की चुनावी सभा में मुख्‍यमंत्री रूपाणी ने कहा कि कांग्रेस में आंतरिक खींचतान व नेताओं में गुटबाजी है। भाजपा ने कांग्रेस के विधायकों को कभी नहीं तोड़ा। पार्टी नेतृत्‍व से नाराज होकर वे खुद कांग्रेस छोड़ने को तैयार बैठे थे। रूपाणी ने इससे पहले कहा था कि जनता की सेवा करना चाहने वाले नेता भाजपा में आते हैं तो उनके लिए द्वार खुले हैं। रूपाणी ने यहां कहा कि जिन आठ सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। इन सभी पर पिछले चुनाव में कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी। इसलिए भाजपा को इस चुनाव में जितनी भी सीटें मिलें, नफा ही होगा।

विपक्ष के‍ विधायक को मिलती है कम ग्रांट

गुजरात के सामाजिक न्‍याय मंत्री रमण पाटकर ने कहा कि विपक्ष के विधायक को कम ग्रांट मिलती है, इसलिए विकास कराना है तो सत्‍ता पक्ष के विधायक को ही मत दें। पाटकर भाजपा के प्रत्‍याशी जीतू चौधरी की चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि जीतू चौधरी जब कांग्रेस विधायक थे, तब काम कराना मुश्किल होता था। चूंकि विपक्ष के विधायकों को कम ग्रांट मिलती है, लेकिन अब वे कपराडा में आसानी से विकास कार्य करा सकेंगे। कांग्रेस ने इस बयान को हाथों हाथ लेते हुए मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी की सरकार पर पलटवाकर करते हुए कहा कि राज्‍य में सरकार संविधान के विरुद्ध काम कर रही है। विधायक गुलाब सिंह ने कहा कि राज्‍य सरकार के मंत्री खुद यह बात स्‍वीकार कर रहे हैं कि गुजरात में विपक्ष के विधायकों को विकास के लिए कम अनुदान दिया जाता है।

मोढवाडिया को 10 करोड़ के मानहानि केस की चेतावनी

कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष सीआर पाटिल को दागी बताते हुए कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में खुद पाटिल ने चुनाव आयोग को सौंपे गए अपने शपथ पत्र में यह उल्‍लेख किया कि उनके खिलाफ 107 कानूनी केस विचाराधीन हैं। इसके जवाब में पाटिल ने मोढवाडिया को यह साबित करने की चुनौती देते हुए कहा है कि आज की तारीख में उनके खिलाफ एक भी केस नहीं है। हाल ही में दागी नेताओं के खिलाफ केसों को हर रोज सुनने के निर्देश के साथ न्‍यायालय की ओर से जारी सूची में उनका नाम नहीं है। पाटिल ने मोढवाडिया से सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की बात कही है। माफी नहीं मांगने पर उन्‍होंने दस करोड का मानहानि का मुकदमा करने की चेतावनी भी दी है। 

उपमुख्‍यमंत्री पर फेंकी चप्‍पल

गुजरात के करजण में एक चुनावी सभा के बाद मीडिया से बातचीत करते समय उपमुख्‍यमंत्री नितिन पटेल पर किसी असामाजिक तत्‍व ने चप्‍पल फेंक दी। पुलिस घटना की जांच कर रही है, चप्‍पल फेंकने वाले की पहचान नहीं हो पाई है। सोमवार देर शाम उपमुख्‍यमंत्री नितिन पटेल वडोदरा की करजण विधानसभा क्षेत्र के करोली गांव एक चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद मीडिया से मुखातिब थे। उसी दौरान टीवी चैनल के माइक पर एक चप्‍पल आकर गिरी। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है। चप्‍पल फेंकने वाले की तलाश की जा रही है। भाजपा के मीडिया प्रभारी प्रशांत वाला, डॉ अनिल पटेल ने इसकी निंदा करते हुए सीधा कांग्रेस पर संदेह जताया। जिसके विरोध में कांग्रेस प्रवक्‍ता जयराज सिंह परमार ने कहा कि उपमुख्‍यमंत्री के साथ हुई घटना दुखद है। लेकिन जब गुजरात में ही पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह पर जूता फेंका गया तथा कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर पत्‍थर फेंका गया, तब भाजपा हंसकर इस पर गंभीर नजर नहीं आई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस